Navratri 2020: 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं नवरात्र, भूलकर भी न करें ये काम

नवरात्रि के इन 9 दिनों में कई ऐसी चीजें होती हैं जिनका हमें खास ख्याल रखना होता है. ऐसे में आज हम आपको बताने वाले हैं नवरात्रि में आपको किन चीजों को करने से बचना है.

इस साल शारदीय नवरात्र (Shardiya Navratri) 17 अक्टूबर से सुरू हो रहे है. शारदीय नवरात्रों में माता के भक्त पूरे 9 दिनों तक माता दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना करते हैं और उन्हें प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं. मान्‍यता है कि जो भी भक्‍त सच्‍चे मन से नवरात्रि में मां की पूजा करता है उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. नवरात्रि (Navratri) के पहले दिन घट स्‍थापना (Ghat Sthapna) कर इस महापर्व की शुरुआत की जाती है.

नवरात्रि के इन 9 दिनों में कई ऐसी चीजें होती हैं जिनका हमें खास ख्याल रखना होता है. ऐसे में आज हम आपको बताने वाले हैं नवरात्रि में आपको किन चीजों को करने से बचना है.

रोमांटिक नवरात्रि गाने के साथ फाल्गुनी पाठक ने की वापसी, बताया क्यों खास है ये गाना

1. अगर आप नवरात्रि (Navaratri 2020) में अगर अखंड ज्योत जला रहे हैं तो घर खाली छोड़कर बिल्कुल न जाएं.
2. नवराकत्रि के 9 दिनों तक नाखुन नहीं काटने चाहिए.
3. इन दिनों में घर के खाने में प्याज, लहसुन और नॉन वेज पूरी तरह वर्जित है.
4. मान्यता के इन दिनों में चमड़े की कोई भी चीज इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए
5. नवरात्रि के दौरान व्रत के समय सोमना निषेध माना जाता है
6. अगर आप दुर्गा चालीसा, मंत्र या सप्तशती पढ़ रहे हैं तो बीच में कुछ और बोलने या पूजा से उठने की गलती न करें.

घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी. कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 27 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 13 मिनट पर खत्म होगा. वहीं अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 44 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 29 मिनट पर खत्म होगा.

मोरारी बापू ने वृंदावन में ठाकुरजी के किए दर्शन, गिरनार पर्वत पर करेंगे पहली ऐतिहासिक रामकथा

शारदीय नवरात्रि की तिथि

17 अक्टूबर- मां शैलपुत्री पूजा, घटस्थापना
18 अक्टूबर- मां ब्रह्मचारिणी पूजा
19 अक्टूबर- मां चंद्रघंटा पूजा
20 अक्टूबर- मां कुष्मांडा पूजा
21 अक्टूबर- मां स्कंदमाता पूजा
22 अक्टूबर- षष्ठी मां कात्यायनी पूजा
23 अक्टूबर- मां कालरात्रि पूजा
24 अक्टूबर- मां महागौरी दुर्गा पूजा
25 अक्टूबर- मां सिद्धिदात्री पूजा

Related Posts