Navratri 2020: कल से शुरू हो रही हैं नवरात्रि, इस शुभ मुहूर्त पर ऐसे करें कलश स्थापना

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी.

भक्त मां दुर्गा के स्वागत के लिए तैयार हैं. कल यानी 17 अक्टूबर से नवरात्रि (Navratri 2020) शुरू हो रही है. नवरात्रि के पहले दिन ही कलश स्थापना (Kalash Sthapna) की जाती है. आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी.

कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त (Kalash Sthapna Shubh Muhurat) सुबह 06 बजकर 27 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 13 मिनट पर खत्म होगा. वहीं अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 44 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 29 मिनट पर खत्म होगा.

Navratri 2020: इस बार शेर की सवारी छोड़ घोड़े पर आएंगी मां दुर्गा, मिलेगा विशेष फल

ऐसे करें कलश स्थापना

1. सबसे पहले घर की सफाई कर लें और पूजा स्‍थल को शुद्ध करें.
2. इसके बाद एक चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछा लें.
3. इसके बाद उस पर थोड़े से चावल रख लें
4. इसके बाद एक मिट्टी का पात्र लें और उसमें जौं बोएं.
5. फिर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें. कलश पर रोली से स्वस्तिक बनाएं.
6. इसके बाद कलश में रक्षा सूत्र बांधें और सुपारी, सिक्का, पान का पत्‍ता और दूब डालें.
7. फिर उस पर आम या अशोक के पत्ते रखें.
8. फिर कलश से भरे ढक्कन को कलश के मुख पर रखें.
9. इसके बाद चुनरी से लपेटा हुआ नारियल लें और कलश पर रख दें.
10 आखिर में दिया जलाकर ध्यान करें और भोग लगाएं.

Navratri 2020: 58 साल बाद नवरात्रि पर बन रहा है शुभ संयोग, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

बन रहा है शुभ संयोग

इस बार नवरात्रि (Navratri 2020) में खास संयोग बन रहा है जो कि 58 साल बाद आया है. दरअसल इस बार शनि और गुरु स्वराशि मकर और धनु में रहेंगे जो काफी शुभ माना जा रहा है. इस खास संयोग से नवरात्रि में इस बार सबकी मनोकामनाएं पूरी होंगी.

इसके अलावा इस बार नवरात्रि में पड़ रहे राजयोग, दिव्य पुष्कर योग, अमृत योग, स्र्वार्थ सिद्धि योग भी लोगों के बेहद शुभ संकेत लेकर आए हैं.

Related Posts