Navratri 2020: 58 साल बाद नवरात्रि पर बन रहा है शुभ संयोग, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 5:09 pm, Thu, 15 October 20
navratri, navratri 2019, navratri latest news, winter navratri, sharad navratri, shardiya navratri, navratri newsm navratri

अधिकास मास खत्म होते ही 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri 2020) शुरू हो जाएगें. नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा (Maa Durga) के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है. मान्‍यता है कि जो भी भक्‍त सच्‍चे मन से नवरात्रि में मां की पूजा करता है उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. नवरात्रि (Navratri) के पहले दिन घट स्‍थापना (Ghat Sthapna) कर इस महापर्व की शुरुआत की जाती है. फिर दिनों मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है.

Navratri 2020: 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं नवरात्र, भूलकर भी न करें ये काम

बताया जा रहा है कि इस बार नवरात्रि (Navratri 2020) में खास संयोग बन रहा है जो कि 58 साल बाद आया है. दरअसल इस बार शनि और गुरु स्वराशि मकर और धनु में रहेंगे जो काफी शुभ माना जा रहा है. इस खास संयोग से नवरात्रि में इस बार सबकी मनोकामनाएं पूरी होंगी.

इसके अलावा इस बार नवरात्रि में पड़ रहे राजयोग, दिव्य पुष्कर योग, अमृत योग, स्र्वार्थ सिद्धि योग भी लोगों के बेहद शुभ संकेत लेकर आए हैं.

रोमांटिक नवरात्रि गाने के साथ फाल्गुनी पाठक ने की वापसी, बताया क्यों खास है ये गाना

घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी. कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 27 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 13 मिनट पर खत्म होगा. वहीं अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 44 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 29 मिनट पर खत्म होगा.