Navratri 2020: इस बार शेर की सवारी छोड़ घोड़े पर आएंगी मां दुर्गा, मिलेगा विशेष फल

नवरात्रि का ये त्योहार 17 अक्टूबर से शुरू होगा और 25 अक्टूबर तक चलेगा. इस बार अष्टमी और नवमी तिथि भी एक ही दिन पड़ रही है

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 6:05 pm, Thu, 15 October 20
navratri, navratri 2019, navratri fast, navratri fast tips, navratri fast tips in hindi, navratri in hindi, navratri news

मां दु्र्गा के आग्मन में अब बस 2 दिन बाकी रह गए हैं. 17 अक्टूबर से नवरात्रि (Shardiya Navratri 2020) शुरू हो रही है. ऐसे में सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं और भक्त मां दुर्गा का स्वागत करने के लिए तैयार हैं. इस बार नवरात्रि का ये त्योहार बेहद खास है. बताया जा रहा है कि इस बार मां दुर्गा अपनी सवारी शेर के बजाय घोड़े पर आएंगी. नवरात्रि (Navratri 2020) का ये त्योहार 17 अक्टूबर से शुरू होगा और 25 अक्टूबर तक चलेगा. इस बार अष्टमी और नवमी तिथि भी एक ही दिन पड़ रही है .

दरअसल 24 अक्टूबर को सूर्योदय वक्त अष्टमी और दोपहर को नवमी तिथि रहेगी. वहीं बताया जा रहा है कि अगले दिन 25 अक्टूबर को दशमी तिथि होने से 25 अक्टूबर को दशहरा पर्व मनाया जाना चाहिए.

Navratri 2020: 58 साल बाद नवरात्रि पर बन रहा है शुभ संयोग, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है. ऐसे में 17 अक्टूबर 2020 के दिन कलश स्थापना होगी. कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 27 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 13 मिनट पर खत्म होगा. वहीं अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 44 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 29 मिनट पर खत्म होगा.

बन रहा है शुभ संयोग

इस बार नवरात्रि (Navratri 2020) में खास संयोग बन रहा है जो कि 58 साल बाद आया है. दरअसल इस बार शनि और गुरु स्वराशि मकर और धनु में रहेंगे जो काफी शुभ माना जा रहा है. इस खास संयोग से नवरात्रि में इस बार सबकी मनोकामनाएं पूरी होंगी.

इसके अलावा इस बार नवरात्रि में पड़ रहे राजयोग, दिव्य पुष्कर योग, अमृत योग, स्र्वार्थ सिद्धि योग भी लोगों के बेहद शुभ संकेत लेकर आए हैं.

Navratri 2020: 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं नवरात्र, भूलकर भी न करें ये काम

शारदीय नवरात्रि की तिथि

17 अक्टूबर- मां शैलपुत्री पूजा, घटस्थापना
18 अक्टूबर- मां ब्रह्मचारिणी पूजा
19 अक्टूबर- मां चंद्रघंटा पूजा
20 अक्टूबर- मां कुष्मांडा पूजा
21 अक्टूबर- मां स्कंदमाता पूजा
22 अक्टूबर- षष्ठी मां कात्यायनी पूजा
23 अक्टूबर- मां कालरात्रि पूजा
24 अक्टूबर- मां महागौरी दुर्गा पूजा
25 अक्टूबर- मां सिद्धिदात्री पूजा