न्यायिक हिरासत में भेजे गए बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह

अनंत सिंह को आज भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गो एयर की फ्लाइट संख्या जी 8 165 से पटना एयरपोर्ट लाया गया.

बिहार के बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर किए जाने के बाद रविवार सुबह पटना वापस लाया गया है. मोकामा के बाहुबली विधायक 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में भेजे गए हैं.दिल्ली से पटना लाने के बाद अनंत सिंह को पटना पुलिस ने बाढ़ कोर्ट में पेश किया.कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में भेज दिया. जिसके बाद अनंत सिंह को पटना के बेउर जेल में भेज दिया गया है.

हालांकि पुलिस ने कोर्ट से अनंत सिंह की रिमांड मांगी थी लेकिन रविवार को रेगुलर कोर्ट नहीं होने की वजह से पुलिस की अर्जी खारिज हो गई. पुलिस अनंत सिंह को रिमांड पर लेने के लिए अगले एक दो दिनों में फिर कोशिश करेगी.

अनंत सिंह को आज (शुक्रवार) भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गो एयर की फ्लाइट संख्या जी 8 165 से पटना एयरपोर्ट लाया गया. उसके बाद पुलिस उन्हें एयरपोर्ट के पिछले दरवाजे से गुप्त रूप से बाहर निकालकर ले गई. बाद में पुलिस उन्हें 22 गाड़ियों के काफिले की सुरक्षा के बीच पटना से बाढ़ और फिर बाढ़ से पटना बेउर जेल ले गयी.

इससे पहले बिहार पुलिस आईपीएस लिपि सिंह के नेतृत्व में दिल्ली गई थी.

बता दें कि अनंत सिंह ने एके-47 और हैंड ग्रेनेड बरामदगी मामले में 6 दिन की फरारी के बाद शुक्रवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर किया था. जिसके बाद अदालत ने अनंत सिंह को दो दिन के लिए बिहार पुलिस के हवाले कर दिया.

ड्यूटी मजिस्ट्रेट अर्चना बेनीवाल ने अनंत सिंह को बिहार पुलिस की ट्रांजिट रिमांड में सौंपते हुए निर्देश दिया कि उन्हें 26 अगस्त को दिन में दो बजे तक बिहार की किसी अदालत में पेश करें.

मामले की सुनवाई के दौरान बिहार सरकार के वकील गोपाल सिंह ने चार दिन की रिमांड मांगी. लेकिन बचाव पक्ष के वकील ज्ञानेंद्र मिश्रा ने इसका विरोध किया.

अदालत ने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के साथ ही अन्य को निर्देश दिया कि वह आदेश के पालन में बिहार पुलिस की मदद करें. इससे पहले अनंत सिंह को एक दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजा गया था. विधायक ने एक वीडियो में कहा था कि वह अदालत के समक्ष समर्पण करेंगे.

अनंत सिंह के घर से एक एके-47 राइफल और ग्रेनेड बरामद हुआ था. पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था. वह गिरफ्तारी से बचने के लिए करीब एक सप्ताह से फरार चल रहे थे. अनंत सिंह ने 19 अगस्त को एक वीडियो जारी कर कहा था कि वह गिरफ्तारी से नहीं घबराते हैं, 2 से 3 दिनों बाद अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण कर देंगे.

वीडियों में उन्होंने पटना पुलिस के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्हें पता चल गया है कि ‘राज्य की सत्ताधारी जदयू के सांसद ललन सिंह, मंत्री नीरज कुमार और अपर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने मेरे खिलाफ साजिश रचकर एक रिश्तेदार के माध्यम से घर मे हथियार रखवाए थे.”