1947 में ही सभी मुस्लिमों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए था : गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह ने कहा कि अगर उस समय सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज दिया जाता और सभी हिंदुओं को भारत बुला लिया जाता तो आज यह नौबत ही नहीं आती.

बीजेपी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह अक्सर अपने कड़े और विवादित बयानों से चर्चा में रहते हैं. बिहार के पूर्णिया में गुरुवार को गिरिराज सिंह ने कहा कि साल 1947 से पहले जहां हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानी देश को आजाद करने में लगे थे, वहीं जिन्ना देश के बंटवारे का षडयंत्र करने में जुटे थे.

उन्होंने कहा कि हमारे महापुरुषों ने उसी समय बड़ी गलती की. अगर उस समय सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज दिया जाता और सभी हिंदुओं को भारत बुला लिया जाता तो आज यह नौबत ही नहीं आती. उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस और विपक्ष में हिम्मत है तो वह सभी रोहिंग्या और पाकिस्तानी मुसलमानों को नागरिकता दें.

गिरिराज ने कहा की कभी सरजील तो कभी अन्य नेता देश को तोड़ने की बात करते रहते हैं. शाहीन बाग से भी देश को तोड़ने का षडयंत्र रचा जा रहा है. उन्होंने कहा कि जो भारत के नागरिक हैं, उन्हें इस कानून से कैसा डर और जो यहां अवैध तरीके से रह रहे हैं, उन्हें तो जाना ही होगा. उन्होंने कहा कि सीमांचल घुसपैठियों का बड़ा अड्डा बन गया है. अगर लोग अब नहीं जगे तो फिर कभी नहीं जागेंगे.

उन्होंने कहा कि सोए हुए को जगाना आसान है, लेकिन जगे हुए को जगाना मुश्किल है. गिरीराज ने ओवैसी का नाम लिए बगैर कहा कि हैदराबाद से आवाज आती हैं कि अगर 15 मिनट के लिए पुलिस हटा दिया जाए तो हिंदुओं की खैर नहीं. वे कहते हैं कि ईंट-से-ईंट बजा देंगे. आखिर यह कैसी साजिश है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग देश को तोड़ने की साजिश रच रहे हैं, लेकिन वे अपने मंसूबे में कभी कामयाब नहीं होंगे.

वहीं, बीजेपी की सहयोगी पार्टी लोक जन शक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर कहा कि वे गिरिराज के बयान से सहमत नहीं हैं. मैं गिरिराज के बयान से इत्तेफाक नहीं रखता हूं. इनके बयान पर ऐतराज है.

ये भी पढ़ें – 

न्यूजीलैंड से गया आकर किया कुत्ते का पिंडदान, गंगा में विसर्जित कीं अस्थियां

पटना में पोस्टर वार का सिलसिला, करप्शन के मसले पर जेडीयू ने लालू परिवार को घेरा

बिहार: सुशील मोदी का प्रशांत किशोर पर पलटवार, कहा, ‘अजीब पाखंड है’

Related Posts