झूठा मुकदमा बंद नहीं हुआ तो संभाले नहीं संभलेगी स्थिति, RSS की जासूसी पर बोला बजरंग दल

बजरंग दल के सह प्रांत संयोजक शुभम भारद्वाज ने कहा कि नीतीश कुमार ने आजतक आईएसआईएस, लश्कर-ए-तैयबा पर कुछ नहीं बोला क्योंकि इससे इनका मुस्लिम वोट बैंक खराब हो जाएगा.

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश पुलिस की खुफिया इकाई को आरएसएस नेताओं की जानकारी निकालने का आदेश दिया था. 28 मई यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ लेने के दो दिन पहले स्पेशल ब्रांच के एसपी द्वारा जारी किए गए एक पत्र में प्रदेश के आरएसएस पदाधिकारियों और 17 सहायक संगठनों की विस्तृत जानकारी निकालने के आदेश दिए गए थे.

‘नीतीश ने संघ को रखा है टारेगेट पर’
बजरंग दल के सह प्रांत संयोजक शुभम भारद्वाज ने इस मामले पर कहा कि नीतीश ने संघ परिवार के सभी अनुसांगिक संगठनों को पूर्व से ही टारगेट कर रखा है जिसमें विहिप बजरंग दल प्रमुख है.

शुभम ने कहा कि ‘विहिप का ही युवकों का आयाम बजरंग दल और युवतियों का आयाम दुर्गावाहिनी है. नीतीश कुमार ने आजतक आईएसआईएस, लश्कर-ए-तैयबा पर कुछ नहीं बोला क्योंकि इससे इनका मुस्लिम वोट बैंक खराब हो जाएगा. परंतु देशभक्त, हिंदूवादी संगठन का विरोध यह प्रमुखता से करते आये हैं जिससे प्रदेश के मुस्लिमों का मत ये जीत सकें.’

नीतीश की पुलिस खंगाल रही है RSS समेत 19 सहयोगी संगठनों की कुंडली

‘झूठे मुकदमों में फंसाती है नीतीश सरकार’
उन्होंने कहा कि विहिप, बजरंग दल देशभर में 90 हजार सेवा प्रकल्प चलाता है, जिसमें 60 हजार से अधिक एकल विद्यालय हैं. प्रदेशभर में विहिप बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को ऐसा कोई सप्ताह नहीं बचता है जिसमें नीतीश सरकार हिन्दू हित के संवैधानिक कार्य करने पर झूठे मुकदमे में नहीं फंसाती हों.

शुभम ने कहा कि हम कार्यकर्ता पीछे हटने वालों में से नहीं हैं. इस हिन्दू राष्ट्र को परम वैभव पर पहुंचाने के लिए नीतीश जैसे आक्रांता का सामना करने के लिए तैयार हैं. नीतीश को समझना चाहिए वो भी हिन्दू हैं, उन्हें देशभक्तों का साथ देना चाहिए. झूठा मुकदमा बन्द नहीं हुआ तो स्तिथि सम्भाले नहीं सम्भलेगी.

ये भी पढ़ें-

हाफिज सईद की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान में अहम बैठक, सेना प्रमुख से मिले PM इमरान खान

तीन साल में लगा सात अरब रुपये का चूना, RTI से ऑनलाइन धोखाधड़ी मामले में बड़ा खुलासा

शिवसेना नेता ने संसद में सुनाया आयुर्वेदिक मुर्गी और अंडे का किस्सा, कहा- शाकाहारी है यह भोजन