‘12.30 बजे लेट नहीं, 2 बजे भेंट नहीं’, बिहार के अफसर नहीं मान रहे जींस न पहनने का फरमान

बिहार सरकार ने सचिवालय में हर स्तर के कर्मचारी को जींस और टीशर्ट पहनकर कार्यालय आने पर रोक लग लगा दी है.

पटना: बिहार की राजधानी पटना के सामान्य प्रशासन विभाग में कार्यरत पदाधिकारियों और कर्मचारियों को जींस और टीशर्ट पहनने पर रोक लगा दी गई है. बिहार सरकार ने सचिवालय में हर स्तर के कर्मचारी को जींस और टीशर्ट पहनकर कार्यालय आने पर रोक लग लगा दी है. लेकिन शुक्रवार को कई अफसर जींस पहने दिखे.

ड्रेस कोड से ज्यादा जरूरी ये…

बिहार सरकार के सचिवालय में कार्य संस्कृति बदलने के लिए ड्रेस कोड से ज्यादा जरूरी है उस संस्कृति पर रोक लगाना जिसके बारे में कहा जाता है 12:00 बजे लेट नहीं और 2:00 बजे भेंट नहीं.

आज भी 11:30 बजे तक दफ्तर खाली हैं

बिहार सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने सरकारी कर्मचारियों के सचिवालय में जींस टीशर्ट पहनकर आने पर रोक तो लगा दी है लेकिन आज भी 11:30 बजे तक दफ्तर के दफ्तर खाली हैं और जहां लोग आए हुए हैं उसमें बहुतेरे जींस पहनकर ही मौजूद हैं कुछ कह रहे हैं उन्हें जानकारी नहीं है, कुछ कह रहे हैं गलती हो गई है.

सचिवालय में आने का समय है 9:30

लेकिन ड्रेस से ज्यादा जरूरी है कि कर्मचारी समय से दफ्तर आएं हालांकि जो 11:30 बजे दफ्तर आ रहे हैं वह कह रहे हैं उनके घर में कुछ समस्या थी तो समस्या किसके घर में नहीं है लेकिन सचिवालय में आने का समय है 9:30 और 11:30 बजे तक रोज यहां आने का सिलसिला जारी ही रहता है.

ये दिया आदेश

गौरतलब है कि सामान्य प्रशासन विभाग में काम कर रहे पदाधिकारियों और कर्मचारियों को सौम्य रंग के शालीन, गरिमायुक्त, आरामदायक, सामान्य कपड़े पहनकर कार्यालय आने का आदेश दिया गया है.

no jeans tshirt general administration department patna, ‘12.30 बजे लेट नहीं, 2 बजे भेंट नहीं’, बिहार के अफसर नहीं मान रहे जींस न पहनने का फरमान

बिहार सरकार के अवर सचिव शिव महादेव प्रसाद की ओर से जारी आदेश में कहा गया है, “देखा जा रहा है कि विभाग में कार्यरत पदाधिकारी और कर्मचारी ऑफिस संस्कृति के खिलाफ अनौपचारिक ड्रेस (कैजुअल) पहनकर कार्यालय आ जाते हैं. ऐसा पहनावा कार्यालय की गरिमा के खिलाफ है.”

फॉर्मल ड्रेस में ही कार्यालय आना होगा

उन्होंने कहा है कि अब इन्हें हर हाल में फॉर्मल ड्रेस में ही कार्यालय आना होगा. आदेश में कहा गया है, “पदाधिकारी और कर्मचारी सौम्य रंग के शालीन, गरिमायुक्त, आरामदायक, सामान्य रूप से समाज में पहनने योग्य कपड़े पहनकर ही कार्यालय आएं. मौसम, कार्य की प्रकृति और अवसर का ध्यान रखते हुए ड्रेस का चयन करें.”

आदेश में सरकारी कर्मचारियों से कहा गया है कि अपेक्षा की जाती है कि जींस, टीशर्ट पहनकर कार्यालय नहीं आएंगे.

ये भी पढ़ें- बिहार के युवकों को कश्मीरी लड़कियों से शादी करना पड़ा महंगा, हुए गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- यूपी में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, बच्चों को भेजीं एक्सपायर्ड दवाइयां