दरभंगा-कोलकाता एक्सप्रेस की दो बोगियों में लगी आग, यात्रियों में मची अफरातफरी

यात्रियों को दोनों कोच से नीचे उतारा और दोनों कोच को पूरी तरह से खाली करवाया ताकि किसी को कोई नुकसान न पहुंचे.

चलती ट्रेन एक बार फिर बर्निंग ट्रेन होने से बच गई. ट्रेन 15233 कोलकाता दरभंगा में यात्रियों के बीच कोहराम मचा जब अचानक ट्रेन के कोच क्रमांक S2 और S3 में धुंआ उठा. देखते ही देखते धुंआ दोनों कोच के अंदर पूरी तरह से फैल गया. जब ट्रेन झाझा रेलवे स्टेशन पर 8 बजकर 25 मिनट पर आकर रुकी तो यात्रियों ने जान बचाने के लिये इधर उधर भागना शुरू कर दिया.

जैसे ही स्टेशन प्रबंधक से लेकर अन्य विभाग के कर्मी के पास हो हल्ला पहुंचा और तुरंत कैरेज एंड वैगन विभाग के कर्मियों ने कोच के नीचे से निकलने वाले धुंआ पर काबू पाया. वहीं जीआरपी के थानाध्यक्षय मो. आरिफ खान ने यात्रियों को दोनों कोच से नीचे उतारा और दोनों कोच को पूरी तरह से खाली करवाया ताकि किसी यात्री को कोई नुकसान न पहुंचे. कैरेज विभाग के कर्मियों ने निकलते हुए धुंआ पर काबू पाया.

Indian Railway, दरभंगा-कोलकाता एक्सप्रेस की दो बोगियों में लगी आग, यात्रियों में मची अफरातफरी

कोच में सफर कर रहे विकास कुमार, धीरज कुमार, संजीव कुमार ने बताया कि धीरे-धीरे धुंआ निकलते हुए पूरे कोच में फैलना शुरू हो गया और कुछ पता ही नहीं चल पाया कि क्या किया जाए. पूरी तरह से कार्य मरम्मती करने के बाद ट्रेन को झाझा से 9 बजकर 27 मिनट पर अगले स्टेशन के लिये रवाना किया गया.

Indian Railway, दरभंगा-कोलकाता एक्सप्रेस की दो बोगियों में लगी आग, यात्रियों में मची अफरातफरी

मौके पर मौजूद अधिकारियों ने बताया कि ब्रेकशु टाइट हो जाने के कारण अचानक घर्षण से धुंआ निकलने लगा. स्टेशन प्रबंधक सोनेलाल हेम्ब्रम, यातायात निरीक्षक रवि गुप्ता, सहायक स्टेशन मास्टर रवि माथुरी सहित दूसरे कर्मियों ने धुंए पर काबू पाने के लिए पूरे कोच पर पानी का छिड़काव करते हुए तकनीकी समस्याओं को दूर किया.

ये भी पढ़ें- झारखंड: SP का दावा- दिल का दौरा पड़ने से हुई तबरेज की मौत, मॉब लिंचिंग से नहीं