बिहार में पत्रकार के बेटे की आँखें फोड़ी और फिर सीने में दाग दी गोलियां

बिहार में दैनिक हिंदुस्तान के नालंदा ब्यूरो चीफ के बेटे की निर्मम हत्या हुई है. उसका शव पानी से भरे गड्ढे में मिला.

बिहार में एक एक पत्रकार के बेटे की निर्मम हत्या ने कानून-व्यवस्था पर फिर से सवाल उठा दिए हैं. नालंदा में दैनिक अखबार हिंदुस्तान के ब्यूरो चीफ आशुतोष कुमार के नाबालिग बेटे का शव मिलते ही हड़कंप मच गया.

16 साल के अश्विनी कुमार को बेहद निर्मम तरीके से मारा गया. नालंदा के एसपी नीलेश कुमार ने बताया कि अश्विनी आँखों से खून बह रहा था. ऐसा लगता है कि अपराधियों ने पहले उसकी आँखें फोड़ी और फिर गोली मार दी.

रविवार की देर शाम उसका शव गांव के पास पानी भरे गड्ढे में मिला चुन्नू परिवार के साथ हरनौत में रहता था लेकिन पिछले 1 महीने से हसनपुर गांव स्थित अपने पैतृक घर में रह रहा था .

गांव वालों ने बताया कि दोपहर बाद वह घर से खेलने के लिए निकला उसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चल पाया. शाम को परिजन खोजने निकले तो गड्ढे में उसका शव मिला. शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया. घटना की सूचना पर चंडी और हरनौत थानों की पूरी टीम डीएसपी के साथ पहुंची.

देर रात एसपी भी मौके पर पहुंचे और छानबीन की.हालांकि घटना का कारण पता नहीं चल पाया है और ना ही इस मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी हो पाई है. नालंदा के एसपी नीलेश कुमार का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है प्रथम दृष्ष्टया यह हत्या का मामला लग रहा है.