बिहार : लालू यादव की हुंकार – दो हजार बीस, हटाओ नीतीश

लालू ने लिखा है कि '2020 में नीतीश कुमार को सत्‍ता से हटा देना है.' उन्‍होंने ट्वीट किया, "दो हजार बीस हटाओ नीतीश".
Lalu Yadav says Remove Nitish Kumar, बिहार : लालू यादव की हुंकार – दो हजार बीस, हटाओ नीतीश

बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जेल से ही राजनीतिक सरगर्मियों पर नजर रख रहे हैं. उनके इशारे पर ट्विटर से नीतीश कुमार सरकार के खिलाफ ट्वीट होते हैं. अब लालू ने लिखा है कि ‘2020 में नीतीश कुमार को सत्‍ता से हटा देना है.’ उन्‍होंने ट्वीट किया, “दो हजार बीस हटाओ नीतीश”.

इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. राबड़ी ने ट्वीट किया, “मुख्यमंत्री दुष्कर्मियों को बचाना चाहते हैं, क्योंकि मूंछ वाले, तोंद वाले अन्य आरोपी उनके साथ कैबिनेट में बैठे हैं?”

राबड़ी ने एक अन्य ट्वीट में सवालिया लहजे में कहा, “नीतीश जी बताएं, वह ब्रजेश ठाकुर के अखबार को करोड़ों का विज्ञापन क्यों देते थे? उसके स्वयंसेवी संस्था को फंड क्यों करते थे? उसके घर केक खाने क्यों जाते थे? उसे चुनाव क्यों लड़वाते थे?” मुजफ्फरपुर बालिका आवास गृह में यौन शोषण के मामले में ब्रजेश मुख्य आरोपी है और वह जेल में बंद है.

एक दिन पहले लालू ने ‘भूत’ वाले किस्‍से को लेकर नीतीश पर निशाना साधा था. नए साल की बधाई देने आए लोगों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक किस्सा सुनाया था, जो काफी सुर्खियों में आ गया. उन्होंने कहा था कि राजद प्रमुख लालू ने एक बार उनसे कहा था, “सीएम आवास में भूत छोड़कर आए हैं.”

इसपर लालू के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शुक्रवार को ट्वीट किया गया, “इस बार जनता कसके वोट की झाड़-फूंक से इनके सारे भूत-प्रेत छुड़ा देगी. विकराल बेरोजगारी, महंगाई, ध्वस्त विधि व्यवस्था, बदहाल शिक्षा व्यवस्था और घूसखोरी जैसे सतही भूत-प्रेती और डरावने मुद्दों की बात नहीं करके छलिया लोग जनता को भ्रमित करने के लिए भुतही बातें कर रहे हैं.”

लालू प्रसाद की पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी एक ट्वीट में लिखा, “गरीबों के खेवनहार जब 2005 में सीएम (मुख्यमंत्री) आवास से निकले थे, तब उसमें एक भूत घुसा था.” राबड़ी ने आगे लिखा, “सीएम आवास में भूत छोड़कर आया हूं’. साहब के इस वाक्य का भावार्थ नीतीश जी शायद समझ नहीं पाए. 15 वर्ष बाद भी नीतीश जी आवास में सुबह-सुबह आइना देखते हैं तो उन्हें भूत ही नजर आता है.”

JDU ने गुरुवार को पोस्टर के जरिए RJD से ’15 साल बनाम 15 साल’ को लेकर ‘हिसाब दो’ की मांग की थी. जवाब में RJD ने शुक्रवार को पोस्टर के जरिए ही जवाब दिया और JDU के 15 साल को ‘झूठ की टोकरी’ बताकर कानून-व्यवस्था के बहाने निशाना साधा.

ये भी पढ़ें

बिहार सरकार के मंत्रियों ने बताई संपत्ति, नीतीश से ज्यादा अमीर हैं सुशील मोदी

गिरिराज सिंह बोले- विदेश में सेटल होकर खाने लगते हैं बीफ, स्कूलों में पढ़ाई जाए भगवत गीता

Related Posts