मुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़िता का चलती गाड़ी में गैंगरेप, इन सवालों के जवाब दें सीएम नीतीश

ऑडियो सही है या नहीं यह तो जांच के बाद पता चलेगा लेकिन पुलिस के सामने कुछ ऐसे सवाल हैं जो सोचने पर ज़रूर मजबूर करता है.

पटना: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़ित लड़की के साथ गैंग रेप के मामले में पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है और मेडिकल बोर्ड गठित कर पीड़ित लड़की का मेडिकल टेस्ट कराया है. पुलिस को मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार में है क्योंकि इसके बाद ही आरोपियो पर कार्रवाई होगी. वहीं TV9 भारतवर्ष ने इस पूरे मामले की पड़ताल की है. आइए जानते हैं इस घटना का सच क्या है?

मुज्जफ्फरपुर शेल्टर होम कांड की पीड़ित लड़की से 13 सितम्बर की देर रात बेतिया में शुक्रवार को चलती स्कॉर्पियो गाड़ी में गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया. जिसके बाद शनिवार को लड़की ने नगर थाना में चार आरोपियो पर गैंग रेप की प्राथमिकी दर्ज करायी. केस दर्ज होने के बाद पुलिस ने रविवार को लड़की के मेडिकल टेस्ट के लिए बोर्ड गठित किया. पुलिस फ़िलहाल मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रही है और उम्मीद है की सोमवार देर शाम तक मेडिकल रिपोर्ट आ जाएगी.

बिहार पुलिस ने अब तक इस ममाले में किसी भी आरोपी से कोई पूछताछ या छानबीन नहीं की है. केस के चार आरोपी घटना के बाद से फरार है. बता दें कि इस केस में चार लोगों के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज करायी गई है जबकि आरोपी पांच लोग बताए जा रहे हैं.

वहीं बात करें पीड़ित लड़की की तो वह अभी पुलिस की देखरेख में मेडिकल कालेज अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती है.

पुलिस भले ही मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रही है लेकिन टीवी-9 भारतवर्ष ने आरोपियों के घर जाकर पूरे मामले की जानकारी ली है. दरअसल दो आरोपी सगे भाई है और तीसरा आरोपी भी दोनो भाईयो के घर में किरायेदार है. वहीं चौथा आरोपी इनका दोस्त है जिसका घर भी इनलोगो के घर के पास ही है. आरोपी लड़के के मां-बाप से बातचीत के बाद पता चला कि लड़की का उनके घर आना जाना था. इतना ही नहीं दोनो परिवार एक दूसरे को अच्छे से जानते थे. घर पर आते जाते लड़की की सभी लड़कों से अच्छी दोस्ती हो गई थी.

परिवारवाले अपने दोनों बच्चों को निर्दोष बता रहे हैं. जबकि तीसरा आरोपी शादीशुदा है. डेढ़ साल पहले ही शादी हुई थी और दस दिन पहले एक बच्चा भी हुआ है. पत्नी के मुताबिक वो पूरी तरह से निर्दोष है. घटना के बाद से सभी आरोपी फरार हैं, उनके परिजनो को भी नहीं पता है कि वे लोग गए कहां.

पुलिस जांच में क्या सामने आता है यह जानने के लिए आपको इंतज़ार करना होगा लेकिन TV9 भारतवर्ष के हाथ एक आडियो लगा है जिसमें दो सगे भाईयो में से छोटा भाई किसी से फोन पर बात कर घटना की सारी कहानी बयां कर रहा है. उसने घटना में पांच लोगो के शामिल होने की बात की है और गैंगरेप में संलिप्तता स्वीकार कर ली है. हालांकि उसने इस मामले में अपने बड़े भाई की संलिप्तता से इनकार किया है. इस ऑडियो में स्कार्पियो गाड़ी लाने से लेकर पूरे घटनाक्रम का जिक्र है. ऑडियो सही है या नहीं यह तो जांच के बाद पता चलेगा लेकिन पुलिस के सामने कुछ ऐसे सवाल हैं जो सोचने पर ज़रूर मजबूर करता है.

सवाल
1. ऑडियो में आरोपी ने कहा की पीड़ित लड़की ने ही उसे फोन कर बुलाया था लेकिन क्यों?
2. मेडिकल टेस्ट कराने में देरी क्यों की गई.
3. पुलिस को अब तक यह नहीं मालूम पड़ा है कि गाड़ी किसकी थी और इसे कौन चला रहा था.
4. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू क्यों नहीं की गई.