बिहार: बाढ़ पीड़ितों के लिए दूत बनी NDRF टीम, 11 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बचाया

पटना (Patna) के बिहटा स्थित 9वीं बटालियन NDRF के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने शनिवार को बताया कि बाढ़ बचाव ऑपेरशन इस समय मुख्यत: सारण और दरभंगा जिलों में NDRF टीमों द्वारा चलाया जा रहा है.
NDRF teams currently deployed, बिहार: बाढ़ पीड़ितों के लिए दूत बनी NDRF टीम, 11 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बचाया

बिहार (Bihar) में बाढ़ (Flood) आपदा से निपटने के लिए इस समय NDRF की कुल 23 टीमें राज्य के 14 जिलों मैं तैनात हैं. सारण, पूर्वी चम्पारण, दरभंगा, समस्तीपुर, गोपालगंज, कटिहार, किसनगंज, अररिया, सुपौल, मधुबनी, पश्चिम चम्पारण, सिवान, वैशाली और मुजफ्फरपुर जिलों में राहत और बचाव कार्य जारी है. NDRF ने बाढ़ में फंसे 11 हजार से ज्यादा लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया है.

NDRF के कमान्डेंट का बयान

पटना के बिहटा स्थित 9वीं बटालियन NDRF के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने शनिवार को बताया कि बाढ़ बचाव ऑपेरशन इस समय मुख्यत: सारण और दरभंगा जिलों में NDRF टीमों द्वारा चलाया जा रहा है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

उन्होंने कहा, “अब तक बिहार राज्य के विभिन्न जिलों में प्रशासन के सहयोग से रेस्क्यू ऑपेरशन चलाकर NDRF के बचावकर्मियों ने लगभग ग्यारह हजार सात सौ बाढ़ आपदा में फंसे लोगों को रेस्क्यू करके सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया है.”

उन्होंने बताया कि शुक्रवार की देर रात मोतिहारी में तैनात 9वीं बटालियन NDRF के बचावकर्मियों ने रेस्क्यू ऑपेरशन चलाकर बंजरिया प्रखंड के बाढ़ग्रस्त सिसवनिया गांव से एक बीमार शिशु को उसके परिजनों के साथ सुरक्षित निकालकर अस्पताल तक पहुंचाया.

चिकित्सा सुविधा का भी रखा जा रहा ध्यान

NDRF टीमें बाढ़ग्रस्त इलाकों में सिविल मेडिकल टीमों को भी मोटर बोट से पहुंचाने में मदद कर रही है, जिससे जरूरतमंद लोगों को उचित चिकित्सा सुविधा मुहैया किया जा सके.

उन्होंने आगे दावा करते हुए बताया कि हमारे NDRF के बचावकर्मी स्थानीय प्रशासन के समन्वय से बाढ़ आपदा में फंसे लोगों की सहायता के लिए दिन-रात तत्पर और तैयार हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts