Coronavirus: कुछ लोगों की लापरवाही सब पर भारी, बिहार में 131 हुई Covid-19 मरीजों की संख्या

मुख्यमंत्री नीतीश (Nitish Kumar) कुमार ने कहा कि राज्य में पिछले 24 घंटों में Coronavirus पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी है, लेकिन उससे घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह केवल एक संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये हुये लोगों का मामला है.
Coronavirus cases in Bihar, Coronavirus: कुछ लोगों की लापरवाही सब पर भारी, बिहार में 131 हुई Covid-19 मरीजों की संख्या

बिहार (Bihar) में कोरोनावायरस (Coronavirus) मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है. आज एक बार फिर से 5 पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इस तरह से बिहार में संख्या बढ़कर 131 पर पहुंच गई है. बिहार में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या भले ही लगातार बढ़ रही हो लेकिन सरकार इसे रोकने के लिए हर तरह के उपाय कर रही है.

बिहार में Covid-19 के फैलने की मुख्य वजह संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आना माना जा रहा है. कहा जा रहा है कि पीड़ितों की लापरवाही की वजह से संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने भी यह माना है कि संक्रमितों के संपर्क में आने से राज्य में मरीजों की संख्या बढ़ी है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

क़तर से लौटे एक युवक ने बना दी कोरोना की चेन

बिहार में सबसे ज्यादा कोविड-19 संक्रमितों की संख्या सीवान, मुंगेर और नालंदा में पाई गई है. कतर (Qatar) से लौटे एक संक्रमित युवक के संपर्क में आने से राज्य में 13 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए. इस तरह उस युवक ने मुंगेर में कोरोना की एक चेन (Chain) तैयार कर दी. हालांकि, बाद में युवक की पटना एम्स (Patna AIIMS) में मौत हो गई लेकिन इसके पहले वह पटना के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती हुआ था. इस तरह एक संक्रमित व्यक्ति की वजह से दो दर्जन से ज्यादा लोगों की जांच की गई.

ओमान से लौटे व्यक्ति से 24 लोग संक्रमित

इधर, सीवान में भी ओमान (Oman) से आए एक संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से परिवार के लोगों सहित 24 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए. इस व्यक्ति ने भी ओमान से लौटने के बाद कोरोना की चेन तैयार की. यह व्यक्ति अपने परिवार वालों के साथ तो रहा ही, इसके साथ-साथ इसने लोगों के साथ क्रिकेट भी खेला.

इधर, नालंदा भी इन दिनों कोरोना के मामले में हॉटस्पॉट बन गया है. नालंदा जिले के मुख्यालय बिहारशरीफ (Biharsharif) में एक संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से उसके 16 परिजन संक्रमित हो गए.

क्या कहा अधिकारीयों ने

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार (Sanjay Kumar) भी कहते हैं कि संक्रमण का शक होने के बाद जिम्मेदारी और बढ़ भी जाती है. आशंका के बाद घर में रहें और जांच कराएं. कोरोनावायरस की इस चेन को तोड़ने के लिए लोग घर में ही रहें.

पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के नोडल अधिकारी डॉ़ अजय सिंह (Ajay Singh) कहते हैं कि किसी भी व्यक्ति को अगर संक्रमण का शक हो तो उसे खुद को आइसोलेशन (Isolation) में रखना चाहिए. इससे यह लोगों के बीच काम फैलेगा. उन्होंने कहा कि इलाज के बाद अधिकतर मरीज ठीक भी हो रहे हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी मंगलवार को समीक्षा बैठक (Review Meeting) में कहा कि राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी है, लेकिन उससे घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह केवल एक संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये हुये लोगों का मामला है.

वे कहते हैं, “सरकार इस पर नजर रख रही है और जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं. यदि आप लोग सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन ठीक से करेंगे तो, आप सबके सहयोग से हम सब इस महामारी पर विजय हासिल करने में सफल होंगे.”

बिहार में कोरोनावायरस के मामले

बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित 15 जिलों में सबसे ज्यादा 29 मामले सीवान में, मुंगेर में 27, पटना में 8, गया में 5, बेगूसराय में 9, गोपालगंज में 3, नालंदा में 28, बक्सर में 8, नवादा में 3 और रोहतास, भोजपुर, सारण, लखीसराय, वैशाली और भागलपुर में एक-एक मामला सामने आया है. इनमें से 42 लोग इलाज के बाद ठीक होकर घर वापस जा चुके हैं, जबकि दो लोगों की मौत हो गई है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts