बंदूक की नोक पर कराया ‘पकड़ौआ विवाह’, दो साल बाद दूल्हे को मिला न्याय

विनोद कुमार की जबरन दो साल पहले शादी करा दी गई थी. इस शादी का वीडियो काफी वायरल हुआ था.

पटना. बोकारो स्टील प्लांट के एक अधिकारी विनोद कुमार ‘पकड़ौआ विवाह’ (forced marriage) का शिकार हो गए थे, लेकिन शनिवार को पटना की फैमिली कोर्ट ने उनकी शादी निरस्त घोषित कर दी.

कोर्ट के आदेश का स्वागत करते हुए विनोद कुमार ने कहा कि उनको राहत मिली है. हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि उनको अभी भी धमकियां मिल रहीं हैं.

विनोद कुमार ने कहा, “2017 दिसम्बर में मैं दोस्त की शादी में शामिल होने के लिए पटना गया था, तभी ये हुआ. सुरेंद्र यादव नाम के एक आदमी ने मुझे अपने घर बुलाया, मुझे मारा-पीटा, धमकाया और बंदूक की नोक पर अपनी बहन से जबरन मेरी शादी कराई. कोर्ट के आदेश से मुझे राहत मिली है, लेकिन वो लोग अभी आजाद घूम रहे हैं और मुझे धमकियां दे रहे हैं.”

कुमार ने ये भी आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी बिलकुल सहायता नहीं की.

बता दें कि, विनोद कुमार की जबरन दो साल पहले शादी करा दी गई थी. इस शादी का वीडियो काफी वायरल हुआ था. वीडियो में विनोद के सिर पर पारंपरिक सहरा रखा हुआ था और वह शादी के दौरान पूरी रात रोते रहे थे.

उनको मंडप पर जबरन घसीट कर बैठाया गया था. वीडियो सामने आने के बाद मामला कोर्ट पहुंचा और अब जाकर विनोद कुमार को कोर्ट से रहत मिली है.

विनोद कुमार की जबरन शादी का वीडियो-

दूल्हे को बंधक बनाकर शादी कराने के मामले में बिहार देश में अव्वल राज्य है.

ये भी पढ़ें: मुंबई में आज फिर हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

ये भी पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी आज 11 बजे करेंगे देश से ‘मन की बात’