VIDEO: फूट-फूट कर रोईं अनंत सिंह की पत्नी, ‘लेडी सिंघम’ लिपि सिंह पर लगाए आरोप

नीलम ने पुलिस और JDU नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने आशंका जताई है कि जेल में बंद उनके पति अनंत सिंह की हत्या हो सकती है.

पटना के मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह न्यायिक हिरासत में हैं. इस दौरान पटना स्थित आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस उनकी पत्नी नीलम देवी पहली बार मीडिया के सामने आईं और फूट-फूट कर रोने लगीं. नीलम सिंह ने लिपि सिंह पर प्रताड़ित करने और राजनीतिक साजिश के तहत फंसने के आरोप लगाया.

नीलम ने पुलिस और JDU नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने आशंका जताई है कि जेल में बंद उनके पति अनंत सिंह की हत्या हो सकती है.

नीलम देवी ने कहा कि मेरे पति को सांसद ललन सिंह और मंत्री नीरज सिंह के कहने पर फंसाया जा रहा है. पत्रकारों के सामने उन्होंने खुद की हत्या की भी आशंका जताई. उन्होंने CBI या फिर दूसरी एजेंसियों से इस प्रकरण के जांच की मांग की है.

नीलम देवी ने कहा बेऊर जेल में मेरे पति की जान को खतरा है और उनकी हत्या हो सकती है. दिल्ली से पटना आने पर मुझे मेरे पति से मिलने नहीं दिया गया. जब भी मेरे घर पर पुलिस रेड करने आई तो उन्होंने मेरे स्टाफ को पीटा.

नीलम देवी ने SP लिपि सिंह पर भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, शुगर पेशेंट होने के बाद भी मुझे लगातार तीन घंटे तक खड़ा रखा गया.

बता दें कि IPS अधिकारी लिपि सिंह बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह की ट्रांजिट रिमांड ली. इस दौरान लिपि सिंह पुलिस की गाड़ी से नहीं बल्कि सांसद की गाड़ी से कोर्ट पहुंची. लिपी के पिता आरसीपी सिहं JDU के राज्यसभा सांसद हैं. आरसीपी सिंह सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते हैं.

लेडी सिंघमकी बन गई है पहचान
लिपि सिंह ही वो युवा IPS अधिकारी हैं जिन्होंने अनंत सिंह के साम्राज्य को हिलाकर रख दिया है. लिपि ने पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से अनंत सिंह के खिलाफ कार्रवाई की है, उससे उनकी पहचान ‘लेडी सिंघम’ की बन गई है.

इस बीच अनंत सिंह को दिल्ली से पटना लाने के लिए पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है. पटना के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) केके मिश्रा ने बताया कि फरार विधायक अनंत सिंह के दिल्ली की एक अदालत में आत्मसमर्पण करने के बाद से पटना पुलिस दिल्ली पुलिस से लगातार संपर्क में है.

घर से बरामद हुई AK-47 राइफल, हैंडग्रेनेड 
बता दें कि अनंत सिंह के पैतृक गांव नदवां स्थित उनके आवास में पुलिस ने 16 अगस्त को छापेमारी कर एक एके-47 राइफल, गोलियां और दो हैंडग्रेनेड बरामद किए थे. इसके बाद बाढ़ थाना कांड संख्या 389/19 के तहत भादवि की धारा 414, 120बी, 25 (1-ए), 25(1 एए), 25(1-बी), आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, एवं यूएपीए एक्ट के तहत FIR दर्ज कराई गई.

ये भी पढ़ें- अब फिरोज शाह कोटला का नाम अरुण जेटली स्टेडियम होगा, DDCA का फैसला