प्रशांत किशोर की नाराजगी के सवाल पर नीतीश कुमार ने जो कहा, पढ़कर चौंक जाएंगे आप

नीतीश कुमार ने आगे कहा, 'प्रशांत किशोर को हम पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट के तौर पर लाए, स्‍ट्रैटिजिस्‍ट के तौर पर नहीं. पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट के रूप में उनकी अभी शुरुआत हुई है.'

पटना: जेडीयू में राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष बनाकर लाए गए प्रशांत किशोर को लेकर इन दिनों बिहार के सियासी गलियारों में जोरदार चर्चा है. 2015 बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन बनाकर नीतीश कुमार की जीत में अहम भूमिका बनाने वाले प्रशांत किशोर इस समय इलेक्‍शन कैंपेन में एक्टिव नहीं है. एक निजी चैनल को दिए इंटरव्‍यू में नीतीश कुमार ने जिस तरह से प्रशांत किशोर से जुड़े सवालों के जवाब दिए, उनसे साफ है कि पार्टी में सबकुछ नहीं है.

‘उनके मन में कोई भ्रम हो तो एक अलग विषय है’

नीतीश कुमार ने कहा, ‘प्रशांत किशोर साइडलाइन नहीं हैं. पार्टी में हैं और पार्टी के जो प्रचारक हैं, उसमें भी उनका नाम है शुरू से ही.’ इसके बाद प्रशांत किशोर के पार्टी में नंबर टू होने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा, ‘ये भाई नंबर टू…वाइस प्रेजसीडेंट हैं. किसी चीज को नंबर टू, नंबर थ्री कहना तो एक एनालिसिस है, लेकिन प्रशांत किशोर की इज्‍जत है. हमारी पार्टी में भी इज्‍जत का भाव है, अब उनके मन में कोई भ्रम हो तो एक अलग विषय है. चूंकि, देखिए प्रशांत जी के साथ सबसे बड़ी बात, हमसे तो बड़ा अच्‍छा संबंध है और मुझको पूरा विश्‍वास और भरोसा है. उस आदमी को भी मुझसे बहुत एक स्‍नेह का भाव है, इसमें कोई शक नहीं है, लेकिन कभी-कभी राजनीति में कई तरह की बातें होती है.’

‘वो अब तक स्‍ट्रेटिजिस्‍ट रहा है’

नीतीश कुमार ने कहा, ‘वो अब तक स्‍ट्रेटिजिस्‍ट रहा है. लेकिन पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट होना तो उसमें कई तरह की बात है. उसको तो सब लोगों से जान पहचान है. देश में कौन पॉलिटिकल लीडर है, पॉलिटिकल कौन पार्टी है, जिनके साथ जान-पहचान नहीं है. उनको कौन से मीडिया के बड़े-बड़े लोग हैं, जिनसे उनका संपर्क नहीं है. तो ये एक पहलू है, लेकिन पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट का एक पहलू है, वो है ग्राउंड लेवल पर.’

‘लालू जी भी प्रशांत किशोर से बात करते हैं’

नीतीश कुमार ने आगे कहा, ‘अब कोई भी पार्टी, हमारी पार्टी कोई बड़ी पार्टी तो है नहीं. एक तरह से जो भी है बिहार में है, प्रशांत किशोर को कौन नहीं जानता, वो तो जहां चाहते, जगह मिल जाती है. उनकी एक टीम है, जो आंध्र में काम कर रही है, एक टीम है जो शिवसेना के लिए काम कर रही है, लेकिन प्रशांत किशोर मेरी पार्टी में है. उनके पिता बीमार हैं, हमारी बातें फोन पर होती रहती हैं. उनकी इतने लोगों से बात होती है, अब कौन क्‍या कह दे, लालू जी भी प्रशांत किशोर से बात करते हैं. तो कौन क्‍या उसको कह देगा.’

नीतीश कुमार ने आगे कहा, ‘प्रशांत किशोर को हम पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट के तौर पर लाए, स्‍ट्रैटिजिस्‍ट के तौर पर नहीं. पॉलिटिकल एक्टिविस्‍ट के रूप में उनकी अभी शुरुआत हुई है.’

ये भी पढ़ें- तेजस्‍वी के आसपास बैक्‍टीरिया, कोई मेरा फोन तक नहीं उठाता, पढ़ें तेज प्रताप ने किए और क्‍या-क्‍या खुलासे