लालू की पार्टी में फूट? विधायक बोले- तेजस्‍वी यादव ने पद नहीं छोड़ा तो टूट जाएगी RJD

RJD विधायक ने कहा कि तेजस्‍वी यादव को नैतिक जवाबदेही लेते हुए नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी छोड़ देनी चाहिए.

पटना: लोकसभा चुनाव में हार का असर राजनैतिक दलों पर दिखने लगा है. लालू यादव की पार्टी राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के विधायक महेश्‍वर यादव ने तेजस्‍वी यादव के नेतृत्‍व पर सवाल उठाए हैं. टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत में यादव ने तेजस्‍वी से इस्‍तीफे की मांग की है. ऐसा न होने पर उन्‍होंने पार्टी में फूट पड़ने की बात कही है. महेश्‍वर यादव ने कहा, “हम पहले से ही कह रहे हैं कि पार्टी में परिवार के आधार पर ही नेता का चयन नहीं हो. 1997 में ही मैंने कहा था कि राबड़ी देवी की बजाय किसी वरिष्‍ठ विधायक को मुख्‍यमंत्री की कुर्सी पर बैठाया जाए. उस समय गलती की गई, जिसके कारण हमारी पार्टी सिमट गई.”

यादव ने टीवी9 भारतवर्ष से कहा, “तेजस्‍वी उप-मुख्‍यमंत्री बने. उनका भाई (तेजप्रताप यादव) मंत्री बना. परिणाम ये हुआ कि नीतीश कुमार अलग हो गए. अभी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर तेजस्‍वी यादव बैठे हुए हैं. विधान‍परिषद में राबड़ी देवी बैठी हुई हैं. अभी गठबंधन के वो नेता थे और पूरे बिहार में गठबंधन में चुनाव हार गया. इसीलिए हम कहते हैं कि नैतिक जवाबदेही लेते हुए नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी छोड़कर किसी दूसरी जाति के अपने वरिष्‍ठ विधायक को बैठाइए. अगर ऐसा नहीं कीजिएगा तो पार्टी टूटेगी.”

नीतीश के साथ जाएंगे बागी विधायक?

टीवी9 भारतवर्ष से महेश्‍वर यादव ने कहा कि उनके साथ कई विधायक मौजूद हैं. उन्‍होंने कहा कि वह तेजस्‍वी के नेतृत्‍व में पार्टी स्‍वीकार नहीं है. यादव ने दावा किया कि राजद के दो-तिहाई विधायक उनके पाले में हैं. उन्‍होंने कहा, “अलग गुट बनाएंगे. नीतीश कुमार के साथ मिलकर हम लोग चुनाव लड़े. भविष्‍य में क्‍या होगा ये कोई नहीं कह सकता लेकिन होगा भी तो नीतीश कुमार के साथ होगा.”

राष्ट्रीय जनता दल बिहार में और झारखंड में एक भी सीट नहीं जीत सका. 2014 की मोदी लहर में पार्टी ने बिहार में चार सीटें जीती थीं. ऐसा पहली बार हुआ है कि राजद का लोकसभा के लिए एक भी सांसद नहीं चुना गया है.

ये भी पढ़ें

लोकसभा चुनाव रिजल्ट के बाद लालू यादव ने छोड़ा खाना, खराब हुई तबीयत

वो बड़े चेहरे जिनके सपने मोदी ने कर दिए चकनाचूर