हाईवा के चपेट में आए इंजीनियर की दर्दनाक मौत, हादसा या साजिश ?

पुलिस इस घटना को एक्सीडेंट मान रही है पर सवाल ये उठता है कि टाल इलाके में चल रहे काम के दौरान हुई घटना के बाद झारखंड का ड्राइवर फरार कैसे हो गया?

बाढ़: बख्तियारपुर से बाढ़ होते हुए मोकामा बाईपास को जाने वाली फोरलेन बाईपास सड़क निर्माण में कार्य में लगे इंजीनियर की हाईवा की चपेट में आ जाने के चलते मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई. ये दर्दनाक हादसा पंडारक थाना क्षेत्र के सरहन टाल इलाके में चल रहे निर्माण कार्य स्थल पर हुआ.

घटना की सूचना पाकर सड़क निर्माण कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचित किया. पंडारक थाना मौके पर पहुंचकर लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल लेकर आए जहां चिकित्सकों ने पोस्टमार्टम किए जाने के बाद लाश परिजनों को सौंप दी गई.

20/ 11 /2017 को सड़क निर्माण कंपनी में इंजीनियर के पद पर उज्जवल राज नामक युवक ने अपना काम संभाला था. मृतक अपने परिवार का एकलौता वारिस था जोकि अरवल का रहने वाला था. परिजनों के अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचने पर पूरा वातावरण गमगीन हो गया. कंपनी के एजीएम ने बताया कि मौत के बाद न्याय संगत कार्रवाई की जा रही है.

पुलिस इस घटना को एक्सीडेंट मान रही है पर सवाल ये उठता है कि टाल इलाके में चल रहे काम के दौरान हुई घटना के बाद झारखंड का ड्राइवर फरार कैसे हो गया? क्या वहां कोई मौजूद नहीं था? कार्य स्थल पर हाइवा को बैक करने के दौरान वहां कोई नहीं था ?अभियंता उज्वल राज की मौत है या सोची समझी हत्या की साज़िश ये जांच के बाद ही पता चलेगा.