तेज प्रताप को सताया जान का डर, दुश्मनों पर बरसे- चंद्रप्रकाश नहीं लालू का बड़का बेटा लड़ रहा चुनाव

चुनाव का आखिरी चरण आते-आते लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप की जुबान तल्ख से तल्ख होती जा रही है. अब तो उन्हें दुश्मनों से जान का खतरा भी सताने लगा है.

बिहार में सियासत दिलचस्प हो गई है. लालू के ही घर में दो पाले खिंच गए हैं. जहानाबाद लोकसभा सीट पर तेज प्रताप यादव अपनी ही पार्टी आरजेडी के प्रत्याशी सुरेंद्र प्रसाद यादव के खिलाफ कड़वी से कड़वी भाषा का इस्तेमाल करने पर उतर आए हैं. इतना ही नहीं उन्होंने अपने उम्मीदवार के पक्ष में माहौल बनाते हुए कहा कि जहानाबाद से चंद्रप्रकाश नहीं लालू का बड़का बेटा चुनाव लड़ रहा है.

चंद्रप्रकाश नहीं लालू का बड़का बेटा लड़ रहा है चुनाव
तेज प्रताप यादव ने अतरी प्रखंड के स्कूल में कहा कि ये लड़ाई आर-पार की है. जहानाबाद से चंद्रप्रकाश नहीं लालू का बड़का बेटा चुनाव लड़ रहा है. हमने एक नौजवान को चुना है.  तेज प्रताप ने अपने छोटे भाई पर भी हमला बोला और कहा कि तेजस्वी नहीं माने. तीन बार हारनेवाले को फिर से टिकट दे दिया. तेज प्रताप इतने पर ही नहीं रुके बल्कि सुरेंद्र प्रसाद पर अपने भाई को बरगलाने का आरोप लगा दिया.

सुरेंद्र प्रसाद ही नहीं बेटे पर भी ज़ोरदार हमला
तेज प्रताप ने अपने पिता के ही अंदाज़ में सुरेंद्र प्रसाद को छनौटा चोर बताया. कहा कि ये पहले मेरे पिता के आगे पीछे लटका हुआ चलता था. तीन बार जहानाबाद लोकसभा चुनाव हार चुका है, फिर भी चौथी बार हमारे भाई तेजस्वी यादव को बरगला कर टिकट लेने का कार्य किया है. तेज प्रताप का कोपभाजन सुरेंद्र प्रसाद यादव का बेटा विश्वनाथ यादव भी बना. उन्होंने कहा कि विश्वनाथ यादव हमारे छोटे भाई को बहला फुसलाकर टिकट लेकर अपने पिता को जिताने का प्रयास कर रहा है जो हम कभी नहीं होने देंगे. उन्होंनेसुरेंद्र प्रसाद यादव के लिए कहा कि ये हमारे घर में फूट डालने का काम कर रहा है, जो हम कभी नहीं होने देंगे. अतरी की जनता हमारे साथ है.

अपनी हत्या की आशंका भी जता गए तेज प्रताप यादव
इस दौरान तेज प्रताप यादव ने अपनी हत्या की आशंका भी जता दी. उन्होंने कहा कि हमारे खिलाफ साज़िश हो रही है. हमारे कार्यक्रम के दौरान एक काले रंग की स्कॉर्पियो में कुछ लोग सवार होकर दूर से हमारे कार्यक्रम को देख रहे थे. हमें लगता है कि कहीं ना कहीं वो हमें निशाने पर ले रहे थे. हमारे दुश्मन चारों तरफ लगे हैं और ये हमारी हत्या की साज़िश कर रहे हैं.

जनता के लिए बगावत करता हूं मैं
तेज प्रताप यादव ने बगावती होने के आरोप पर भी जवाब  दिया. उन्होंने कहा कि  मैं बगावती नहीं हूं. हमारे पिता के जेल से बाहर आते ही ऐसे लोगों का सफाया हो जाएगा. मीडिया और कुछ लोग हमें कहते हैं कि हमने परिवार और पार्टी में बगावत कर रखी है, यह कहीं से सही नहीं है. हम जनता की मांग पर बगावत करते हैं और जनता के लिए बगावत करते हैं.

तेज प्रताप यादव ने अपने उम्मीदवार चंद्रप्रकाश के पक्ष में प्रचार करते हुए उन्हें लालू-राबड़ी मोर्चे का उम्मीदवार करार दिया है. वो जमकर चंद्रप्रकाश का प्रचार कर रहे हैं. उन्होंने शिवहर में भी अपना उम्मीदवार उतारा था लेकिन उसका नामांकन रद्द हो गया जिसकी वजह से तेज प्रताप अब पूरी तरह जहानाबाद में ही प्रचार करने में जुटे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *