घंटों पड़ा रहा शव, थानाक्षेत्र के विवाद में उलझी रही बिहार पुलिस

एक ओर डीजीपी मुजफ्फरपुर और बेगूसराय का दौरा कर रहे हैं और दूसरी तरफ वैशाली में पुलिस थाना क्षेत्र के विवाद में उलझी हुई है.

वैशाली: एक व्यक्ति का शव घंटों पड़ा रहा और पुलिस थानाक्षेत्र विवाद में उलझी रही. आखिरकार इस थाना विवाद को सुलझाने के लिए अमीन को बुलाना पड़ा. इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री ने बेहद नाराजगी जताते हुए डीजीपी को कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

ये मामला है बिहार के वैशाली जिले का. जहां महनार स्टेशन रोड में दो थाने की पुलिस का असली चेहरा लोगों को देखने को मिला. एक पुल के नीचे अज्ञात युवक का शव पड़े होने की सूचना पर महनार और सहदेव की पुलिस मौके पर पहुंची जरूर लेकिन दोनों ही था ना अपनी जिद पर अड़ गए कि यह स्थान उनके थाना क्षेत्र में नहीं आता है. दोनों थाना की पुलिस 100 से पिंड छुड़ाने के लिए बहस करती रही, लोग तमाशा देखते रहे. आखिरकार मौके पर अमीन तक को बुला लिया गया, अमीन ने पैमाइश की. इस मौके पर वरीय अधिकारी पहुंचे और शव को जिला के सदर अस्पताल भेज दिया गया.

बिहार में सुशासन की परिकल्पना देने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने बिहार के डीजीपी को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने बताया इस पूरे मामले में डीआईजी को जांच के आदेश दिए गए हैं. बीजेपी के इस बयान को भी मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लेते हुए कहा कि सिर्फ डीआईजी के जांच से काम नहीं चलेगा, थाना विवाद में उलझी पुलिस पर कड़ी कार्रवाई कीजिए.

बिहार पुलिस का यह चेहरा तब सामने आया जब दो दिन पहले नीतीश कुमार ने बिहार में बिगड़ती कानून व्यवस्था के हालात को देखते हुए उच्चस्तरीय बैठक के बाद, डीजीपी समेत तमाम वरीय पुलिस पदाधिकारियों को क्षेत्र में जाकर जनता के बीच काम करने का आदेश दिया था.