अमेजन की समिट में आखिर क्यों खफा हुए इन्फोसिस के फाउंडर नारायण मूर्ति

दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित अमेजन का ये 'संभव' शिखर सम्मेलन अपने तय समय से डेढ़ घंटे की देरी से शुरू हुआ.
amazon smbhav summit, अमेजन की समिट में आखिर क्यों खफा हुए इन्फोसिस के फाउंडर नारायण मूर्ति

अमेजन के एक हालिया इवेंट के चलते जानीमानी कंपनी इन्फोसिस के फाउंडर नारायण मूर्ति खफा हो गए. वजह ये कि, उन्हें अपने 20 मिनट के भाषण को 5 मिनट में ही खत्म करना पड़ गया. अमेजन की इस समिट में अमेजन चीफ जेफ बेजोस भी मौजूद थे.

दरअसल बुधवार को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित अमेजन का ये ‘संभव’ शिखर सम्मेलन अपने तय समय से डेढ़ घंटे की देरी से शुरू हुआ. इससे नाराज नारायण मूर्ति ने अपने भाषण के दौरान ही कह डाला कि उन्हें देरी की आदत नहीं है और अपने भाषण को 5 मिनट में ही खत्म कर दिया.

मूर्ति ने कहा कि, सुबह 11:45 पर मेरा भाषण खत्म हो जाना चाहिए था लेकिन 11:53 हो चुके हैं. मुझे बोलने के लिए 20 मिनट दिए गए थे मगर अब मैं 5 मिनट ही बोलना चाहूंगा. इतना बोलकर नारायण मूर्ति स्टेज से उतर गए.’

हालांकि इसके बाद अमेजन के सीईओ जेफ बिजोस नारायण मूर्ति को दोबारा स्टेज पर लेकर गए और उनका धन्यवाद किया.

अमेजन के ‘संभव’ शिखर सम्मेलन में 100 से ज्यादा ग्लोबल बिजनेस चीफ और लगभग 3000 छोटे बिजनेसमैन और 70 से ज्यादा टेक्नोलॉजी पार्टनर्स ने हिस्सा लिया.

बता दें कि जेफ़ बेजोस की अमेजन डॉट कॉम और नारायण मूर्ति की कैटामरान वेंचर्स की भारतीय कंपनी क्लाउडटेल में पार्टनरशिप है. वहीं अमेजन ने ई-कॉमर्स को फॉलो करते हुए अपने पार्टनर (प्रायोन बिजनेस सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड) को क्लाउडटेल की 25 फीसदी हिस्सेदारी बेच दी है. प्रायोन बिजनेस सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड को भी कैटामरान वेंचर्स ही चलाती है.

ये भी पढ़ें– Raisina Dialogue: रूस के विदेश मंत्री ने कहा- भारत को जल्द मिले UNSC की स्थायी सदस्यता

Related Posts