भारत में एक अरब डॉलर का निवेश कर अहसान नहीं कर रही Amazon: पीयूष गोयल

केंद्रीय मंत्री गोयल ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियों को भारतीय नियमों का अक्षरशः पालन करना होगा. उन्हें कानून में लूप होल खोजकर पिछले दरवाजे से भारतीय मल्टी ब्रांड रिटेल सेक्टर में प्रवेश करने का प्रयास नहीं करना चाहिए.

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और Amazon के मालिक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) ने भारत में एक अरब डॉलर के निवेश की घोषणा की. इस घोषणा के बाद केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने गुरुवार को कहा कि अमेजन भारत में निवेश कर कोई अहसान नहीं कर रही. उन्होंने सवाल उठाया कि ऑनलाइन कारोबार वाली कंपनी अगर दूसरों के बाजार बिगाड़ने वाली नीति पर नहीं चल रही है तो उसे इतना बड़ा घाटा कैसे हो सकता है?

केंद्रीय मंत्री गोयल ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियों को भारतीय नियमों का अक्षरशः पालन करना होगा. उन्हें कानून में लूप होल खोजकर पिछले दरवाजे से भारतीय मल्टी ब्रांड रिटेल सेक्टर में प्रवेश करने का प्रयास नहीं करना चाहिए. बता दें कि जेफ बेजोस इस वक्त भारत आए हुए हैं लेकिन वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने उनसे मिलने को समय नहीं दिया है.

भारत का कानून मल्टी ब्रांड रिटेल सेक्टर में विदेशी कंपनियों को 49 फीसदी से ज्यादा की अनुमति नहीं देता है. सरकार ने इस मामले में किसी भी विदेशी कंपनी को ढील अनुमति नहीं दी है. अमेजन ने लघु और मझोले कारोबार में ऑनलाइन मदद के लिए एक अरब डॉलर के निवेश का ऐलान किया है.

दिल्ली में चल रहे ‘रायसीना डायलॉग’ में पीयूष गोयल ने तंज करते हुए कहा ‘अमेजन एक अरब डॉलर का निवेश कर सकती है लेकिन अगर उन्हें एक अरब डॉलर का नुकसान हो रहा है तो वे उस अरब डॉलर का इंतजाम भी कर रहे होंगे. इसलिए ऐसा नहीं है कि वे एक अरब डॉलर का निवेश करके भारत पर कोई अहसान कर रहे हैं.’

उन्होंने इस बात पर भी हैरानी जताई कि ई-कॉमर्स कंपनियां जो बेचने और खरीदने वालों को आईटी प्लेटफॉर्म उपलब्ध करा रही हैं उन्हें बड़ा नुकसान कैसे हो सकता है? उन्होंने कहा कि एक निष्पक्ष बाजार मॉडल में कारोबार 10 अरब डॉलर का है और अगर कंपनी को अरबों डॉलर का नुकसान हो रहा है तो सवाल पैदा होता है कि ये नुकसान कहां से आ रहा है?

ये भी पढ़ेंः

Facebook लाया नया सिक्योरिटी फीचर, अब चोरी नहीं होगा आपका डाटा

अपने परिवार और दोस्तों को वक्त देना चाहते हैं मार्क जकरबर्ग, बताया अगले दशक का प्लान