लूटघर : 2012 में बुक किया था फ्लैट, 42 लाख रुपए देकर भी नहीं मिला घर

होम बायर्स (Home Buyers) ने 2012 में एक हाउसिंग प्रोजेक्ट में फ्लैट बुक किया था. सालों बाद न घर मिला न बिल्डर (builder) मिल रहा है.

फोटो : प्रतीकात्मक

अपनी ‘लूटघर’ (Lootghar) सीरीज में हम ऐसे होम बायर्स की कहानी बताते हैं जिन्होंने अपने आशियाने के सपने को पूरा करने के लिए जीवनभर की पूंजी बिल्डर (builder) को सौंप दी. कुछ धोखेबाज बिल्डरों ने ऐसे भोलेभाले होम बायर्स को ठगा और उन्हें लूटकर फरार हो गए. होम बायर्स (Home Buyers) के घर का सपना अभी भी अधूरा है.

पटना से पुष्कर सिंह का आरोप है कि 2015 में उन्होंने अग्रणी होम्स के प्रोजेक्ट में एक फ्लैट बुक किया. उन्हें तीन साल के अंदर मकान मिल जाना था. वो 16 लाख रुपए दे चुके हैं और पिछले दो सालों से बिल्डर के ऑफिस के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन कोई इस बारे में बात तक नहीं करता.

यह भी पढ़ें : लूटघर : बिल्डर के जेल जाने के बाद प्रोजेक्ट हुआ सील, 11 साल से है घर का इंतजार

दूसरी ओर हरियाणा से प्रलय चक्रवर्ती का आरोप है कि उन्होंने ऐवलॉन बिल्डर्स के धारुहेड़ा प्रोजेक्ट में 2012 में अपना फ्लैट बुक किया था और 36 लाख रुपए के फ्लैट की कीमत का 95 फीसदी रकम दे चुके हैं. 42 महीने की डेडलाइन कब की बीत चुकी है. बायर्स के सवालों से बचने के लिए बिल्डर बार-बार ऑफिस का पता बदल रहा है.

अगर आप भी किसी बिल्डर की जालसाजी का शिकार हुए हैं या फिर आप भी सालों से अपने सपनों के घर को पाने का इंतजार कर रहे है या आपके पास किसी तरह का कोई सुझाव है तो आप हमें lootghar@tv9.com पर ईमेल कर सकते हैं. अगर कोई बिल्डर भी अपना पक्ष रखना चाहता है तो वो भी दिए गए मेल पर अपनी बात लिख सकता है.

Related Posts