RBI का नया नियम: 30 सितंबर से बदलने जा रहा है डेबिट-क्रेडिट कार्ड, होंगे 4 नए बदलाव

आरबीआई ( RBI ) ने ये सारे नियम जनवरी में ही बदलने की बात की थी. लेकिन कोरोना की वजह से इसे आगे बढ़ा दिया गया था. अब ये सारे नियम 30 सितंबर से लागू हो जाएंगे.

RBI

अगर आप डिजिटल पेमेंट करते हैं या फिर डेबिट और क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. दरअसल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने डेबिट और क्रेडिट कार्ड से जुड़े नियमों में 4 अहम बदलाव किए हैं. ये बदलाव 30 सितंबर से लागू हो जाएंगे जिसका सीधा असर आप पर पड़ेगा. आइए जानते हैं क्या हैं ये बदलाव और इसका कैसे आप पर असर होगा.

पहला बदलाव – अब आप अपने कार्ड की लिमिट खुद तय कर सकते हैं. ये बदलाव आप अपने मोबाइल बैंकिंग, बैंक के एप, एटीएम पर जाकर या कस्टमर केयर को फोन करके कर सकते हैं. इस सुविधा के तहत आप एटीएम की ट्रांजैक्शन लिमिट भी खुद ही तय कर सकते हैं.

दूसरा बदलाव – नये नियम लागू होने के बाद आप अपने कार्ड की प्रायोरिटी भी सेट कर सकते हैं. मतलब अगर आप जिस सेवा का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं उसकी प्रयोरिटी उपर सकते हैं. जैसे इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन, घरेलू ट्रांजैक्शन, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन, कॉन्टैक्टलेस ट्रांजेक्शन जैसी सुविधा में से जिसका इस्तेमाल ज्यादा करते हैं उसे प्रयोरिटी पर रख सकते हैं.

तीसरा बदलाव – अब ग्राहकों को आरबीआई की ओर से घरेलू ट्रांजैक्शन की अनुमति भी मिल सकती है. इसका मतबल जब डेबिट या क्रेडिट कार्ड जारी किया जाता है तो उसमें ATM मशीन से पैसे निकालते और POS टर्मिनल पर शॉपिंग के लिए विदेशी ट्रांजेक्शन की मंजूरी नहीं दी जाए. अगर आप विदेशी ट्रांजैक्शन का इस्तेमाल नहीं करते तो आपके कार्ड पर केवल घरेलू लेनदेन की ही मजूंरी होगी.

चौथा बदलाव – अब आप किसी भी समय अपने कार्ड पर विदेशी ट्रांजैक्शन की सुविधा ले सकते हैं. इसके साथ ही अब यह अधिकार आपके पास ही होगा कि आपको कौन सी सर्विस रखनी है या हटानी है.

कोरोना की वजह से सितंबर से लागू होंगे नए नियम

दरअसल आरबीआई ने ये सारे नियम जनवरी में ही बदलने की बात की थी. लेकिन कोरोना की वजह से इसे आगे बढ़ा दिया गया था. अब ये सारे नियम 30 सितंबर से लागू हो जाएंगे. इसलिए 30 सितंबर से पहले तय कर लें कि आपको अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर कौन सी सुविधा एक्टिवेट रखनी है और कौन सी नहीं रखनी.

Related Posts