SBI कस्‍टमर्स के लिए खुशखबरी! लगातार नौंवीं बार कम हुए इंटरेस्‍ट रेट्स

देश के सबसे बड़े बैंक ने मियादी जमा पर भी ब्याज दर में कटौती की है. एसबीआई ने रिटेल मियादी जमा पर ब्याज दरों में 10-50 आधार अंकों की कटौती की है.

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने फंड आधारित ब्याज दर की सीमांत लागत यानी एमसीएलआर में 0.5 फीसदी की कटौती की है. यह कटौती 10 फरवरी से लागू होगी.

इसके बाद एसबीआई से आवास और ऑटो ऋण लेना सस्ता हो जाएगा. एमसीएलआर किसी कमर्शियल बैंक द्वारा तय वह न्यूनतम ब्याज दर है, जिस पर बैंक अपने ग्राहकों को कर्ज दे सकता है. एमसीएलआर से नीचे की ब्याज दर पर बैंक को कर्ज देने की अनुमति नहीं है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा गुरुवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट को यथावत रखने के निर्णय की घोषणा के एक दिन बाद शुक्रवार को एसबीआई ने एमसीएलआर में कटौती की घोषणा की. नई कटौती के बाद एसबीआई का एमसीएलआर 7.90 फीसदी से घटकर 7.85 फीसदी हो गया है. चालू वित्त वर्ष में एसबीआई की यह लगातार नौवीं कटौती है.

देश के सबसे बड़े बैंक ने मियादी जमा पर भी ब्याज दर में कटौती की है. एसबीआई ने रिटेल मियादी जमा पर ब्याज दरों में 10-50 आधार अंकों की कटौती की है, जबकि थोक मियादी जमा पर ब्याज दरों में 25-50 आधार अंकों की कटौती की है.

बता दें कि आरबीआई ने गुरुवार को रेपो रेट 5.15 फीसदी पर बरकरार रखने का फैसला किया.

(IANS)

 

ये भी पढ़ें-  Auto Expo 2020 : शाहरुख ने लॉन्‍च की नई हुंडई क्रेटा SUV, जानें मार्केट में कब तक आएगी

क्रेडिट नहीं लोन में दिखी जेनरेशन Z उपभोक्ताओं की दिलचस्पी, टू-व्हीलर्स पहली पसंद