बड़ी खबर: चीन से जुड़े 3000 फर्जी यूट्यूब चैनल पर लगाम, गूगल ने लगाई पाबंदी

अमेरिका के साथ साथ भारत सरकार भी लगातार चीन पर कड़ा रुख अपनाए हुए है. मोदी सरकार ने पहले चीनी एप्स को बैन किया. भारत के आत्मनिर्भर अभियान को बढ़ावा देने के लिए चीन से आने वाले टीवी, टायर, एसी के इंपोर्ट पर बैन लगाया.

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने में अब बस कुछ ही दिन बाकी रह गए हैं, इस बीच गूगल ने जुलाई से सितंबर तक की अवधि में 3,000 से अधिक ऐसे फर्जी यूट्यूब चैनल हटाए हैं, जो चीन से संबंधित एक बड़े स्पैम नेटवर्क का हिस्सा रहे थे. इनके द्वारा अपने चैनल पर चुनाव को प्रभावित किए जाने संबंधी अभियानों को संचालित किया जा रहा था. कंपनी द्वारा इनका सफाया किए जाने के परिणामस्वरूप अब ये अपने चैनल पर दर्शक जुटा पाने में असमर्थ हैं.

ये भी पढ़े: सरकार ने कामगारों को दिया बड़ा तोहफा, अगले साल तक मिलेगा बेरोजगारी का फायदा

गूगल ने अपने एक बयान में कहा, “हमने जितने भी वीडियोज के पहचान किए हैं, उनमें से अधिकतर में लोगों के देखे जाने की संख्या दस से भी कम हैं और इस पर भी असली के यूजर्स के मुकाबले इन्हें स्पैम अकांउट्स से ही देखे गए हैं, जो वर्तमान में सक्रिय नहीं है.”

ये भी पढ़े: न्यूज एग्रीगेटर्स, वेबसाइट्स और ऐप पर भी लागू होगा 26% FDI का नियम, सरकार ने दी जानकारी

गूगल थ्रेट एनालिसिस ग्रुप टीएजी से शेन हंटले ने कहा, “हालांकि इन नेटवर्क्‍स के द्वारा पोस्ट तो नियमित तौर पर किया जाता रहा है, लेकिन इनमें स्पैम कंटेंट की अधिकता रही है। हमने यूट्यूब पर प्रभावी ढंग से दर्शकों तक इनकी पहुंच नहीं देखी है.”

ये भी पढ़े:Forex Reserve: भारत ने बनाया नया रिकॉर्ड, 551 अरब डॉलर पहुंचा देश का विदेशी मुद्रा भंडार

चीन पर प्रहार जारी

अमेरिका के साथ साथ भारत सरकार भी लगातार चीन पर कड़ा रुख अपनाए हुए है. मोदी सरकार ने पहले चीनी एप्स को बैन किया. भारत के आत्मनिर्भर अभियान को बढ़ावा देने के लिए चीन से आने वाले टीवी, टायर, एसी के इंपोर्ट पर बैन लगाया. दरअसल कोरोना ने चीन की पोल खोल कर रख दी है. अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भी लगातार चीन पर शिकंजा कस रहे है. विश्व के पटल पर चीन इन दिनों लगातार आरोप झेल रहा है कि उसने ही पूरी दुनिया में कोरोना जैसी महामारी फैलाई है.

( IANS इनपुट के साथ )

Related Posts