लगातार बढ़ता जा रहा सरकार पर कर्ज, वित्त मंत्रालय की रिपोर्ट में सामने आई जानकारी

ताजा जानकारी वित्तमंत्रालय की एक रिपोर्ट में सामने आई है. इस रिपोर्ट के मुताबिक जून 2020 के अतं तक सरकार की देनदारी बढ़कर 101.3 लाख करोड़ जा पहुंची है

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 11:59 am, Sat, 19 September 20
Narendra Modi Pulwama

कोरोना की मार से केवल हम आप ही नहीं बल्कि सरकार भी परेशान हैं. इसकी ताजा जानकारी वित्तमंत्रालय की एक रिपोर्ट में सामने आई है. इस रिपोर्ट के मुताबिक जून 2020 के अतं तक सरकार की देनदारी बढ़कर 101.3 लाख करोड़ जा पहुंची है. मार्च 2020 तक यह कर्ज 94.6 लाख करोड़ रुपए थी. जो कोरोना के बाद से लगातार बढ़ती जा रही है. पिछले साल जून 2019 में यह कर्ज 88.18 लाख करोड़ की थी. वित्तमंत्रालय की ओर से जारी सार्वजनिक त्रृण की रिपोर्ट में यह आकंड़े सामने आए हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक सरकार के कुल बकाए में सार्वजनिक का हिस्सा 91. 1 फीसदी है.

अप्रैल-जून में जुटाए 80 हजार करोड़

केंद्र सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में नकद प्रबंधन बिल जारी कर 80 हजार करोड़ की रकम जुटाई है. पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में नए इश्यू की औसत भारित परिपक्वता 16.87 वर्ष थी, जो अब कम होकर 14.61 वर्ष पर आ गई. यह आंकड़े सार्वजनिक ऋण प्रबंधन प्रकोष्ठ कमेटी ( पीडीएमसी ) के मुताबिक हैं.

अप्रैल-जून में 7.1 फीसदी बढ़ी देनदारी

आंकडों की बात करें तो सरकार की देनदारी में केवल अप्रैल-जून तिमाही में 7.1 फीसदी का इजाफा हुआ है. जो पिछले साल समान अवधि में 0.8 फीसदी थी. साल भर पहले यानी जून 2019 के अंत में सरकार का कुल कर्ज 88.18 लाख करोड़ रुपए था. केवल जून महीने की बात करें तो सरकार ने करीब 3,46,000 करोड़ की डेट सिक्योरिटी जारी है. जबकि एक साल पहले इसी अवधि में 2,21,000 करोड़ रुपए की प्रतिभूतियां जारी की गई थी। इस अवधि के दौरान वाणिज्यिक बैंकों की हिस्सेदारी 39 प्रतिशत और बीमा कंपनियों की हिस्सेदारी 26.2 प्रतिशत थी। जबकि प्रतिभूतियों की कुल 28.6 फीसदी की हिस्सेदारी रही है.