AC Import: टीवी के बाद अब एसी इंपोर्ट पर भी बैन, मोदी सरकार का बड़ा फैसला

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मोदी सरकार पहले से ही कई कड़े कदम उठा चुकी है. जिसके तहत टायर. टीवी, अगरबत्ती जैसी गैर जरुरी चीजों के इंपोर्ट को बैन किया जा चुका है.

भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में मोदी सरकार ने एक और बड़ा फैसला किया है. पहले टीवी, फिर टायर और अब एयरकंडीशन के इंपोर्ट को बैन कर दिया गया है. दरअसल सरकार चाहती है कि गैर-जरूरी सामान के आयात में कमी लाया जा सके. डीजीएफटी यानी डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए अब एसी के आयात को फ्री कैटेगरी से प्रतिबंधित कैटेगरी में रखा गया है.

अगरबत्ती, टीवी, टायर अब एसी

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मोदी सरकार पहले से ही कई कड़े कदम उठा चुकी है. जिसके तहत टायर. टीवी, अगरबत्ती जैसी गैर जरुरी चीजों के इंपोर्ट को बैन किया जा चुका है. माना जा रहा है कि इस फैसले से एक बड़ा प्रभावित होगा.

चीन समेत इन देशों पर असर

सरकार के इस फैसले से चीन, मलेशिया, थाइलैंड, जापान समेत कई देशों पर असर पड़ेगा. क्योंकि भारत इन देशों से सबसे ज्यादा इंपोर्ट करता है. जिसमें चीन और थाईलैंड से सबसे ज्यादा आयात होता है. देश में करीब 300 कंपनियां भारत को एसी या इससे जुड़े उत्पाद का आयात करती है.

5 बिलियन डॉलर का है बाजार

भारत में एसी का कुल बाजार करीब 5 बिलियन डॉलर का है जिसका एक बड़ा हिस्सा आयात से जुड़ा है. केवल एसी के कंपोनेंट की बात करें तो अकेले इसकी हिस्सेदारी 2 बिलियन डॉलर के करीब है. दरअसल सरकार चाहती है कि इस मार्केट पर भारत की हिस्सेदारी बढ़े और आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कंपनियां देश में इनका निर्माण कर सकें.

भारतीय कंपनियों की जगी उम्मीद

सरकार के इस फैसले का देसी कंपनियों ने स्वागत किया है. हैवल्स इंडिया के सीएमडी अनिल राय गुप्ता ने कहा है कि हम सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हैं. सरकार के इस कदम से भारतीय कंपनियों को निश्चित तौर पर फायदा होगा. खासकर उन कंपनियों को जिन्होंने भारत में प्लांट लगाने में मोटी रकम निवेश की हुई है. हैवल्स इंडिया ने अपने प्लांट पर 400 करोड़ का निवेश किया है. कंपनी को उम्मीद है कि इस फैसले से उनको फायदा मिलेगा.

Related Posts