उम्‍मीद से धीमी है भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की रफ्तार, फिर भी चीन से बहुत आगे : IMF

भारत अभी भी दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्‍यवस्‍था बना रहेगा. भारत की आर्थिक वृद्धि दर चीन से काफी आगे रहेगी.

अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा है कि भारत की आर्थ‍िक वृद्धि उम्‍मीद से ‘काफी कमजोर’ है. IMF ने इसके पीछे कॉर्पोरेट और एनवायर्नमेंटल रेगुलेटरी को लेकर अनिश्चितता और कुछ गैर-बैंकिंग वित्‍तीय कंपनियों में आ रही कमजोर को जिम्‍मेदार ठहराया गया है.

हालांकि वाशिंगटन की इस ग्‍लोबल संस्‍था ने कहा कि भारत अभी भी दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्‍यवस्‍था बना रहेगा. भारत की आर्थिक वृद्धि दर चीन से काफी आगे रहेगी.

IMF ने जुलाई में भारत के लिए 2019 और 2020 में धीमी वृद्धि दर का अनुमान लगाया था. अब IMF ने कहा है कि भारत की GDP 2019 में 7 और 2020 में 7.2 प्रतिशत की रफ्तार से आगे बढ़ेगी.

IMF प्रवक्‍ता गेरी राइस ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, “जल्‍द ही नए आंकड़े आएंगे लेकिन भारत की हालिया आर्थिक वृद्धि उम्‍मीद से काफी कमजोर रही है.” भारत के हालिया GDP आंकड़ों के बारे में पूछे जाने पर राइस ने कहा कि IMF भारत के आर्थिक हालात पर नजर रखेगा.

अगस्‍त में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वित्त वर्ष 2019-20 में देश की आर्थिक विकास दर 6.9 फीसदी रहने का अनुमान जारी किया था. जुलाई में एशियाई विकास बैंक (ADB) ने भी भारत के विकास दर अनुमानों में कटौती की थी. एडीबी ने इस साल भारत की आर्थिक विकास दर सात फीसदी रहने का अनुमान लगाया था.

ये भी पढ़ें

दुनिया में सबसे ज्‍यादा है इस कंपनी का मुनाफा, अब मुकेश अंबानी की RIL में लगाएगी पैसा

बिजनेस ट्रिप पर गए शख्स की सेक्स के दौरान मौत, कोर्ट ने कहा- परिवार को मुआवजा दे कंपनी