खत्म होगी बांग्लादेश में प्याज की दिक्कत, भारत सरकार ने लिया बड़ा फैसला

चटगांव प्लांट क्वारंटीन स्टेशन के अनुसार, 3 से 17 सितंबर तक 88,045 टन प्याज ( Onion ) के लिए 200 से अधिक आयात परमिट ( Import {Permit ) जारी किए गए हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 12:17 pm, Mon, 21 September 20
onion-price
प्रतीकात्मक तस्वीर

भारत सरकार द्वारा पूर्व में किए गए अनुबंध के आधार पर प्याज को बाजारों में प्रवेश करने की मंजूरी देने के एक दिन बाद बांग्लादेश के आयातक बेसब्री से प्याज की खेपों को चटगांव बंदरगाह से आगे ले जाने की मंजूरी मिलने का इंतजार करते रहे. चटगांव प्लांट क्वारंटीन स्टेशन के अनुसार, 3 से 17 सितंबर तक 88,045 टन प्याज के लिए 200 से अधिक आयात परमिट (आईपी) जारी किए गए हैं. उनमें से 3,320 मीट्रिक टन नीदरलैंड्स से, 2,420 मीट्रिक टन न्यूजीलैंड से, 18,831 मीट्रिक टन म्यांमार से, 22,069 मीट्रिक टन मिस्र से, 6,451 मीट्रिक टन तुर्की से, 16,205 मीट्रिक टन चीन से और 18,749 मीट्रिक टन पाकिस्तान से है.

14 सितबंर को लगा था प्रतिबंध

चटगांव प्लांट क्वारंटीन स्टेशन के उप निदेशक, एम.डी. अशदुज्जमान बुलबुल ने कहा कि वे आयातित प्याज को जल्द से जल्द बाजार तक पहुंचने देने के लिए आईपी जारी करने में देरी से बच रहे हैं। भारत सरकार ने 14 सितंबर को बांग्लादेश के लिए सभी तरह के प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था। भारी बारिश और बाढ़ के कारण भारत में ही आपूर्ति में कमी का हवाला देते हुए ऐसा किया गया था.

55 से 60 टका प्रति किलो प्याज

खाटूनगंज बाजार के थोक विक्रेताओं के अनुसार, रविवार को भारतीय प्याज 55 से 60 टका प्रति किलो बिका. बंदरगाह शहर के विभिन्न बाजारों का दौरा करते हुए, यह पाया गया कि भारत से आयातित प्याज रविवार को खुदरा रूप से 65-70 टका प्रति किलोग्राम पर बिका. खाटूनगंज के उल्लाह मार्केट ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव मोहम्मद इदरीस ने कहा कि बड़ी खेपों के आने से प्याज के दामों में कमी होगी.

25000  टन निर्यात की मिली थी मजूंरी

इससे पहले भारत सरकार ने बांग्लादेश को 25,000 टन प्याज के निर्यात की विशेष अनुमति प्रदान की थी, जो स्थानीय व्यापारियों के मुताबिक, देशों के सीमा क्षेत्र में पांच ट्रकों में बंद पड़ा था.  इस  घोषणा को रविवार से लागू कर दिया गया है. नाम न जाहिर किए जाने की शर्त पर एक सूत्र ने कहा, “भारत सरकार ने विशेष विचार पर बांग्लादेश को 25,000 टन प्याज निर्यात करने का निर्णय लिया है. ऐसा भारत ने अपने सबसे करीबी मित्र बांग्लादेश को सहयोग प्रदान करने के खातिर किया है.

(आईएनएस से इनपुट के साथ )