• Home  »  बिजनेस   »   Tanishq ही नहीं सर्फ से लेकर मैनफोर्स तक के विज्ञापनों ने मचाया बवाल, इस वजह से हटाना पड़ा था एड

Tanishq ही नहीं सर्फ से लेकर मैनफोर्स तक के विज्ञापनों ने मचाया बवाल, इस वजह से हटाना पड़ा था एड

यू तो सर्फ एक्सेल का टैग लाइन है दाग अच्छे है लेकिन अपने विवादित एड के लिए कंपनी पर ही दाग लगे. मामला 2019 का था. जोमैटो, मैनफोर्स, सर्फ एक्सेल, ओला समेत कई ऐसी कंपनियों के विज्ञापन के अच्छा खासा विवाद खड़ा किया था. बढ़ते विवाद के चलते इन विज्ञापनों को हटाना पड़ा था.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:12 pm, Thu, 15 October 20
वीडियो ग्रैब
तनिष्क के ऐड पर हुआ था विवाद

टाटा ग्रुप की ज्वेलरी कंपनी तनिष्क का विज्ञापन विवाद सुर्खियों में छाया हुआ है. ये पहला वाक्या नहीं है जब किसी एड को कंट्रोवर्सी का शिकार होना पड़ा. धर्म को लेकर, एड में अपशब्द भाषा का इस्तेमाल हो या फिर कई ऐसे मुद्दे है जिसकी वजह से जोमैटो, मैनफोर्स, सर्फ एक्सेल, ओला समेत कई ऐसी कंपनियों के विज्ञापन के अच्छा खासा विवाद खड़ा किया था. बढ़ते विवाद के चलते इन विज्ञापनों को हटाना पड़ा था.

ओला का विवाविद एड

कैब एग्रीगेटर ओला कंपनी को तब मुसीबत का सामना करना पड़ा था तब उसने अपने एड में विवादित कंटेट डाला था. दरअसल ओला के इस एड का टाइटल रखा गया था ‘टू एक्सपेंसिव टू टेक गर्लफ्रेंड आउट ऑन डेट’ . लेकिन इसके कंटेट में कहा गया मेरी गर्लफ्रेंड के एक किमी चलने की कीमत 525 रुपए है, जबकि ओला माइको एक किमी के बस 6 रुपए लेती है. इस कंटेट को लेकर काफी विवााद के बाद कंपनी को यह एड हटाना पड़ा था.

इस नवरात्रि खेलो, मगर प्यार से

मैनफोर्स कंपनी ने साल 2017 में नवरात्रि के समय एक कंडोम एड बनाया जिसका टैगलाइन था इस नवरात्रि खेलो, मगर प्यार से . इस टैगलाइन को लेकर काफी विवाद हुआ जिसके बाद कंपनी को सफाई देनी पड़ी और इस एड को हटाना पड़ा. सनी लियोनी इस एड की ब्रांड एंबेसडर थी. और होर्डिंग्स में इस टैगलाइन को हाइलाइट किया गया था.

जोमैटो एड का विवाद

फूड एग्रीगेटर जोमैटो ने एक एड बनाया था जिसमें एमसी बीसी जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया था. इस एड पर इतना बबाव मचा कि खुद कंपनी के सीईओ दीपेदंर गोयल को सामने आकर माफी मांगनी पड़ी और विज्ञापन हटाना पड़ा

सर्फ एक्सेल पर दाग

यू तो सर्फ एक्सेल का टैग लाइन है दाग अच्छे है लेकिन अपने विवादित एड के लिए कंपनी पर ही दाग लगे. मामला 2019 का था कंपनी के इस एड में हिन्दू और मुस्लिम में भाईचारे का संदेश देने की कोशिश करने के चक्कर में कंपनी को बुरी तरह से ट्रोल किया गया था . इतना ही नहीं सर्फ एक्सल के ऐड को लव जिहाद का समर्थन करने वाला ऐड बताया गया था.