आज से दोबारा शुरू हो रही है देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस, यात्रा से पहले जान लें नए नियम

IRCTC Tejas Express: देश में कोविड-19 (COVID-19) के संक्रमण को देखते हुए आईआरसीटीसी ने तेजस एक्सप्रेस में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं.

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) आज से दोबारा शुरू होने जा रही है. भारतीय रेलवे (Indian Railway) की पहली कॉर्पोरेट ट्रेनें, लखनऊ-नई दिल्ली (ट्रेन नंबर -82501 / 82502) और अहमदाबाद-मुंबई (ट्रेन नंबर -82902 / 82901) सेवाएं 19 मार्च से बंद होने के बाद आज से शुरू होंगी. इन दो तेजस एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) करती है. हालांकि, तेजस एक्सप्रेस में यात्रा अब पहले की तरह नहीं होगी. देश में कोविड-19 (COVID-19) के संक्रमण को देखते हुए आईआरसीटीसी ने तेजस एक्सप्रेस में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं.

आईआरसीटीसी इन ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को फल प्रदान करने जा रहा है क्योंकि नवरात्रि का त्योहार भी आज से शुरू हो गया है. तेजस एक्सप्रेस अपनी खास यात्री सुविधाओं के लिए जानी जाती है. इस ट्रेन में बेहतरीन खाना, नाश्ता और पेय मुफ्त है. वहीं, विलंब होने पर यात्रियों को मुआवजा दिया जाता है. एक घंटे से अधिक की देरी पर 100 रुपये और दो घंटे से अधिक विलंब होने पर 250 रुपये का मुआवजा मिलता है.

सरकार ने दी 2.5 करोड़ लोगों को सौगात, आप भी केवल 210 रुपए जमा कर पाएं 60,000 की रकम

इन नियमों का करना होगा पालन
तेजस एक्सप्रेस में यात्रा करने वाले यात्रियों को इन नए नियमों का पालन करना होगा-

>> यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए एक मानक ऑपरेशन प्रक्रिया जारी की गई है.

>> यात्रियों को एक बार बैठने के बाद अपनी सीटों की अदला-बदली करने की अनुमति नहीं होगी. यात्रियों और कर्मचारियों के लिए फेस कवर / मास्क का उपयोग अनिवार्य होगा.

>> सभी यात्री आरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) इंस्टॉल करेंगे और मांग के अनुसार ही दिखाए जाएंगे. टिकटों की बुकिंग के समय यात्रियों को विस्तृत निर्देश दिए जाएंगे.

>> सभी यात्रियों को एक कोविड -19 सुरक्षा किट प्रदान की जाएगी जिसमें हैंड सैनिटाइज़र, एक मास्क, एक चेहरा ढाल और एक जोड़ी दस्ताने शामिल होंगे.

पेटीएम से किया यह काम तो कटेगी आपकी जेब, कंपनी ने बदल दिया नियम

>> सभी यात्री कोच में प्रवेश करने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग और हाथ से सफाई की प्रक्रिया से गुजरेंगे.

>> पैंट्री एरिया और लैवेटरी सहित कोच को नियमित अंतराल पर पूरी तरह से कीटाणुरहित किया जाएगा. यात्रियों और यात्रियों के सामान को डिसइन्फेक्टेड किया जाएगा.

>> कोच के अंदर बार-बार छुए जाने वाले सतह की सफाई की जाएगी. सर्विस ट्रे और ट्रॉलियों को भी कीटाणुरहित किया जाएगा.

 

Related Posts