टाटा ग्रुप से अलग हो जाएगा मिस्त्री परिवार! शपूरजी पालोनजी ग्रुप ने जारी किया बयान

शपूरजी पालोनजी समूह (SP Group) ने अपने में बयान कहा, ‘हमारा और टाटा का रिश्ता 70 साल पुराना है. यह आपसी विश्वास और दोस्ती पर बना था...'

शपूरजी पालोनजी समूह (SP Group) ने मंगलवार को अपने बयान में कहा है कि टाटा संस (Tata Sons) से बाहर निकलने का वक्त आ गया है. बता दें कि साइरस मिस्त्री के परिवार का ये ग्रुप पिछले 70 सालों से टाटा संस के साथ है. लेकिन पिछले कुछ सालों में दोनों के रिश्ते में आई कड़वाहट के चलते अब इस जोड़ी के टूटने की नौबत आ गई है.

एसपी ग्रुप ने अपने में बयान कहा, ‘हमारा और टाटा का रिश्ता 70 साल पुराना है. यह आपसी विश्वास और दोस्ती पर बना था. मंगलवार को एसपी ग्रुप ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष कह दिया कि टाटा समूह से अलग होना जरूरी हो गया है क्योंकि इस चली आ रही मुकदमेबाजी से आजीविका और अर्थव्यवस्था प्रभावित हो सकती है. भारी हृदय से मिस्त्री परिवार यह मानता है कि सभी स्टेकहोल्डर समहों के लिए एसपी ग्रुप और टाटा संस का अलग हो जाना ही अच्छा होगा.’

File Pic-Ratan Tata

टाटा संस में एसपी ग्रुप की दो इन्वेस्टमेंट फर्म्स के जरिए 18.37 फीसदी हिस्सेदारी है. एसपी ग्रुप की योजना विभिन्न स्रोतों से 11,000 करोड़ रुपये की व्यवस्था करने की है और उसने टाटा संस में अपने 18.37 फीसदी शेयरों के एक हिस्से के एवज में कनाडा के एक निवेशक के साथ 3,750 करोड़ रुपये के करार पर हस्ताक्षर किए थे.

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को शपूरजी पालोनजी के टाटा संस के शेयर बेचने पर 28 अक्टूबर तक की रोक लगा दी. एसपी ग्रुप के हिस्सेदारी गिरवी रखने पर रोक लगाने के लिए 5 सितंबर को टाटा ग्रुप ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

File Pic- Cyrus Mistry

Related Posts