कारोबारियों को नए साल का तोहफा, अब रूपे डेबिट कार्ड-UPI भुगतान पर नहीं लगेगा MDR

डेबिट कार्ड से भुगतान को स्वीकार करने पर एमडीआर चार्ज लगता है. यह चार्ज डीलर अपने सर्विस प्रोवाइडर को देता है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को देश के कारोबारियों को नए साल का तोहफा दिया है. सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक के बाद वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि 1 जनवरी, 2020 से रूपे डेबिट कार्ड और यूपीआई से भुगतान पर मर्चेंट डिस्काउंट रेट (एमडीआर) नहीं लगेगा. यह निर्णय डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के मकसद से लिया गया है.

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि डिजिटल डेबिट कार्ड और यूपीआई से भुगतान पर एमडीआर नहीं लगाने संबंधी नोटिफिकेशन 1 जनवरी, 2020 को जारी किया जाएगा. नोटिफिकेशन जारी होते ही यह राहत तत्काल प्रभाव से लागू हो जाएगी.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 50 करोड़ रुपए या उससे अधिक के कारोबारी प्रतिष्ठानों को रूपे डेबिट कार्ड और यूपीआई क्यूआर कोड से भुगतान स्वीकार करना होगा. उन्होंने कहा कि सभी बैंक भी रूपे डेबिट कार्ड और यूपीआई को लोकप्रिय बनाने के लिए अभियान चलाएंगे.

डेबिट कार्ड से भुगतान को स्वीकार करने पर एमडीआर चार्ज लगता है. यह चार्ज डीलर अपने सर्विस प्रोवाइडर को देता है और यह पीओएस टर्मिनल पर हर बार कार्ड स्वाइप करने के लिए वसूल किया जाता है. यह ऑनलाइन और क्यूआर कोड के जरिए लेनदेन पर भी लिया जाता है.

उल्लेखनीय है कि बजट 2019 में वित्त मंत्री सीतारमण ने यह घोषणा की थी कि 50 करोड़ रुपये व उससे अधिक टर्नओवर वाले बिजनेस के लिए डिजिटल पेमेंट के दौरान शुल्क को कम किया जाएगा. इस दौरान उन्होंने कहा था कि इस खर्च का वहन आरबीआई को उठाना चाहिए.

1 फरवरी 2020 को वित्त मंत्री मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश करेंगी.

बैंकों की मंजूरी पर ही होगी सीबीआई जांच

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि बैंक के खिलाफ सीबीआई सीधी कार्रवाई नहीं कर सकती है. उन्होंने कहा कि किसी भी धोखाधड़ी के मामले में बैंक ही सीबीआई को मामला सौंपेंगे. बैंक की मंजूरी के बगैर कोई भी मामला सीबीआई को नहीं सौंपा जाएगा.

उन्होंने बैंकों को निर्देश दिया कि वह भ्रष्टाचार को लेकर उनके अधिकारियों के खिलाफ दर्ज सतर्कता संबंधी मामलों को जल्द निपटाएं.

ईबी-क्रय को किया वित्त मंत्री ने शुरू

वित्त मंत्री सीतारमण ने बैंकों द्वारा जब्त की गई संपत्ति के ई-ऑक्शन यानी डिजिटल माध्यम से बिक्री के लिए ईबी-क्रय पोर्टल शुरू किया.

 

ये भी पढ़ें-   प्रियंका गांधी की सुरक्षा में लगी सेंध, हाई सिक्योरिटी लेयर तोड़ मंच तक पहुंचा युवक

पंजाब में सिख परिवार ने मस्जिद के लिए दान की 400 गज जमीन