पुणे में नया टेक सेंटर स्थापित करेगी ये कंपनी, 1000 इंजीनियरों को देगी नौकरी

ओला (Ola) में लगभग 4,000 कर्मचारी हैं, जिनमें से करीब 1,500 कर्मचारी इंजीनियर्स हैं. पुणे में टेक सेंटर बेंगुलरु के बाद भारत में कंपनी का दूसरा ऐसा केंद्र होगा.

Job opportunity
Job opportunity

ऑनलाइन कैब बुकिंग सेवा मुहैया कराने वाली कंपनी ओला (Ola) ने पुणे में एक नया टेक्नोलॉजी सेंटर स्थापित करने और अगले कुछ वर्षों में लगभग 1,000 इंजीनियरों को नियुक्त करने की योजना बनाई है. सूत्रों के मुताबिक, पुणे में टेक सेंटर बेंगलुरु के बाद भारत में कंपनी का ऐसा दूसरा सेंटर होगा और वह सभी ग्रुप में ओला के सभी व्यवसायों के लिए वैश्विक और स्थानीय समाधानों को पूरा करेगा. इस मामले से जुड़े एक शख्स ने बताया कि पुणे फैसिलिटी इस तिमाही के अंत तक चालू हो जाएगी और अगले तीन वर्षों में 1000 कुशल टेक्नोलॉजी प्रोफेशनल्स के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करेगी.

पिछले साल जून में, ओला ने इलेक्ट्रिक और कनेक्टेड व्हीकल में अपने काम में तेजी लाने के लिए सैन फ्रांसिस्को बे में एक एडवांस टेक्नोलॉजी सेंटर खोला था. पुणे अपनी तकनीकी प्रतिभा और आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए जाना जाता है, जो ओला जैसी कई तकनीकी-नेतृत्व वाली कंपनियों के लिए एक पसंदीदा स्थान है.

फेस्टिव सीजन में SBI लाया खुशियों की सौगात, जीरो प्रोसेसिंग फीस पर मिलेगी ये सुविधाएं

ओला (Ola) में लगभग 4,000 कर्मचारी हैं, जिनमें से करीब 1,500 कर्मचारी इंजीनियर्स हैं. बता दें कि कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के चलते ओला ने कंपनी से 1,400 कर्मचारियों को निकाल दिया था. वहीं ओला की प्रतिद्वंद्वी उबर (Uber) ने भी 600 कर्मचारियों की छंटनी की थी.

उबर भी देगी नौकरी
बता दें कि ओला के प्रतिद्वंद्वी उबर ने भी हाल ही में भारत में अपनी इंजीनियरिंग टीम को मजबूत करने की घोषणा की थी. इसने अमेजन के दिग्गज मणिकंदन थंगरत्नम को बेंगलुरु में सभी राइडर और प्लेटफॉर्म इंजीनियरिंग टीमों का नेतृत्व करने के लिए सीनियर डायरेक्टर के रूप में नियुक्त किया है. इसके अलावा, अमेरिका स्थित कंपनी ने देश में 140 इंजीनियरों को जोड़ने की अपनी पिछली घोषणा के अलावा भारत में 85 और इंजीनियरों को नियुक्त करने की भी योजना बनाई है.

अब आप पूरे परिवार के लिए ऑर्डर कर सकते हैं Aadhaar PVC Card, यहां जानें पूरा प्रोसेस

धीरे-धीरे शहरों और व्यवसायों के अनलॉक होने (लगभग दो महीने के लॉकडाउन के बाद) के बाद बिजनेस अब सामान्य स्थिति में आ रहे हैं. यात्रा के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, दोनों कंपनियों ने वाहनों की नियमित रूप से सफाई और चालक भागीदारों और सवारों द्वारा मास्क पहनना सहित कई कदमों की घोषणा की है.

Related Posts