अब गूगल को दी पेटीएम ने चुनौती, यूपीआई कैश के साथ क्रिकेट लीग शुरू किया

पेटीएम (Paytm) ने कहा है कि सरकार के भी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए कैशबैक यूजर्स को दिए जाएंगे और इसमें गूगल प्ले स्टोर के किसी नियम का उल्लंघन नहीं होगा.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:56 am, Tue, 29 September 20

फाइनेंसियल सर्विसेज प्लेटफार्म पेटीएम (Paytm) ने गूगल (Google) को चुनौती देते हुए सोमवार को यूपीआई कैश और स्क्रैच कार्ड के साथ क्रिकेट लीग (Cricket league) शुरू करने की घोषणा की. इस महीने की शुरुआत में पॉलिसी के उल्लंघन को लेकर गूगल प्ले स्टोर (Google play store) से पेटीएम को कुछ समय तक के लिए हटा दिया गया था. अब पेटीएम यूजर्स अपने फेवरिट क्रिकेट स्टार्स के बदले स्टीकर्स हासिल कर सकते हैं और इसके माध्यम से वो अपने मोबाइल बिल की पेमेंट, रीचार्ज, ग्रॉसरी खरीद और मनी ट्रांसफर कर सकते हैं.

एक सेट पूरा करने पर यूजर्स 1000 रुपये तक के कैशबैक के लिए स्टीकर्स को रिडीम कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- लूटघर: मकान की 95 फीसदी रकम बिल्डर को देकर 8 साल से होम बायर कर रहे घर का इंतजार

पेटीएम ने कहा है कि सरकार के भी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए कैशबैक यूजर्स को दिए जाएंगे और इसमें गूगल प्ले स्टोर के किसी नियम का उल्लंघन नहीं होगा. गूगल ने इसी कारण पेटीएम को गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया था.

पेटीएम का गूगल पर आरोप

बता दें पेटीएम ने कहा कि उसे Android Play Store पर फिर से सूचीबद्ध होने के लिए UPI कैशबैक और स्क्रैच कार्ड अभियान को हटाने के लिए Google के आदेश का पालन करने के लिए मजबूर होना पड़ा. दोनों की पेशकश भारत में कानूनी है, और सरकार द्वारा निर्धारित सभी नियमों और विनियमों के बाद कैशबैक दिया जा रहा है. पेटीएम ने यह भी आरोप लगाया कि गूगल की पेमेंट सर्विस ‘गूगल पे क्रिकेट’ पर आधारित इसी तरह की पेशकश खुद ही कर रही है.

ये भी पढ़ें- 1 अक्टूबर से बदलने जा रही हैं ये 6 अहम चीजें, सीधे आपकी जेब पर असर

पेटीएम ने यह स्पष्ट किया कि यह पहली बार था जब Google इसे अपने UPI कैशबैक के बारे में एक अधिसूचना भेज रहा था. यह पुष्टि करते हुए कि यह Google की सभी चिंताओं का जवाब देने के लिए तत्पर है और हमेशा उनके निर्देशों का अनुपालन किया है, पेटीएम ने दोहराया कि इसका प्रचार अभियान दिशानिर्देशों के भीतर था, और कोई उल्लंघन नहीं था.

ये भी पढ़ें- अमेजन इंडिया ने अपना नेटवर्क बढ़ाया, 10 हजार से अधिक डिलीवरी पार्टनर्स जोड़े