Share Market Today: बाजार में रौनक लौटी, हरे निशान पर निफ्टी, 260 अंक ऊपर उछला सेंसेक्स

एक्सपर्ट्स की मानें तो अभी भारतीय शेयर बाजार (Indian stock market) में उतार चढ़ाव का दौर जारी रहेगा. ऐसे में निवेशकों को सावधानी पूर्वक इंवेस्टमेंट करनी चाहिए.

प्रतीकात्मक तस्वीर

भारतीय शेयर बाजार (Indian stock market) में शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान खूब रौनक रही. बंबई स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) के शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 261.39 की तेजी के साथ 39,989.80 पर खुला और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) के शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी बीते सत्र के मुकाबले 47.05 अंकों की तेजी के साथ 11,727.40 पर खुला.

सुबह 9.02 बजे सेंसेक्स पिछले सत्र से 167.46 अंक यानी 0.42 फीसदी की तेजी के साथ 39895.87 पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी भी बीते सत्र से 27.50 अंक यानी 0.24 फीसदी की बढ़त के साथ 11707.90 पर बना हुआ था.

ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार जीएसटी सेस की क्षतिपूर्ति के तौर पर उधार लेगी 1.1 लाख करोड़ रुपये

इचर मोटर्स, पावर ग्रिड, एक्सिस बैंक एनटीपीसी और एशियन पेंट्स के शेयर में शुक्रवार को शुरुआत के दौरान गिरावट पाई गई. जबकि डॉक्टर रेड्डी, एसबीआई लाइफ, सिप्ला, एचसीएल टेक और इंफोसिस के शेयर हरे निशान पर खुले. फार्मा सेक्टर का कारोबार सपाट नजर आया तो वहीं दूसरे सेक्टर्स जैसे आईटी, पीएसयू बैंक, रियल्टी, मीडिया, एफएमसीजी, फाइनेंस सर्विसेज, मेटल और ऑटो के शेयर में बढ़त पाई गई.

गुरुवार को बाजार में बड़ी गिरावट 

भारतीय शेयर बाजार (Indian stock market) में गुरुवार को शुरुआती कारोबार के दौरान तो खूब रौनक रही लेकिन क्लोजिंग के दौरान बाजार में गिरावट देखी गई. कमजोर ग्लोबल संकेतों की वजह से सेंसेक्स दिन के उच्चतम स्तर से 1380 अंक नीचे बंद हुआ वहीं निफ्टी में भी 364 अंकों की गिरावट पाई गई. बाजार के सभी सेक्टर्स में बिकवाली रही. बीएसई सेंसेक्स 1066.33 अंक नीचे पहुंचकर 39,728.41 पर और निफ्टी 290.70 अंक यानी 2.43 फीसदी नीचे 11,680.35 पर क्लोज हुआ.

ये भी पढ़ें- Tanishq ही नहीं सर्फ से लेकर मैनफोर्स तक के विज्ञापनों ने मचाया बवाल, इस वजह से हटाना पड़ा था एड

बता दें बाजार में चल रहे रहे उतार चढ़ाव की वजह कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी, अमेरिका में राहत पैकेज में देरी और अमेरिका-चीन के बीच चल रहे तनाव को माना जा रहा है. ज्यादातर इंवेस्टर्स इस बात से परेशान हैं कि COVID-19 के मामलों में तेजी की वजह से कहीं सरकार दोबारा लॉकडाउन की घोषणा न कर दे. एक्सपर्ट्स की मानें तो अभी बाजार में उतार चढ़ाव का दौर जारी रहेगा. ऐसे में निवेशकों को सावधानी पूर्वक इंवेस्टमेंट करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- Reliance Industries के हाथों क्यों बिका बिग बाजार, खुद किशोर बियानी ने किया बड़ा खुलासा

Related Posts