लूटघर : न घर मिला, न हर्जाना, छह साल से भटक रहे होम बायर

‘लूटघर’ (Lootghar) में आज आपको बताएंगे ऐसे होम बायर्स (Home buyers) की कहानी जो 2014 से घर के इंतजार में हैं पर न उन्हें घर मिला, न बिल्डर (Builder) उन्हें ब्याज दे रहा.

प्रतीकात्मक फोटो

अपनी ‘लूटघर’ (Lootghar) सीरीज में हम ऐसे होम बायर्स की कहानी बताते हैं जिन्होंने अपने आशियाने के सपने को पूरा करने के लिए जीवनभर की पूंजी बिल्डर (builder) को सौंप दी. कुछ धोखेबाज बिल्डरों ने ऐसे भोलेभाले होम बायर्स को ठगा और उन्हें लूटकर फरार हो गए. होम बायर्स (Home Buyers) के घर का सपना अभी भी अधूरा है.

नोएडा के रितिन दातवानी की शिकायत है कि उन्हें फुल पेमेंट के बाद भी ग्रेटर नोएडा के पैरामाउंट गॉल्फ फॉरेस्ट में फ्लैट का पजेशन नहीं मिला. उन्होंने घर 2015 में बुक किया था.

हैंडओवर 2018 तक मिलना था. बिल्डर उन पर रजिस्ट्री का दबाव बना रहा है. हैरानी की बात ये है कि घर उन्होंने 18वें फ्लोर पर बुक किया था जबकि बिल्डर ने उन्हें जो नो ड्यूज सर्टिफिकेट दिया उसमें उन्हें 22वें फ्लोर पर मकान एलॉट किया गया है.

छह साल से है घर का इंतजार

महाराष्ट्र के दीपक पाटिल की शिकायत है कि मुंबई के पास कल्याण में उन्होंने लाइफस्टाइल सिटी प्रोजेक्ट में जो मकान बुक किया वो छह साल की देरी के बाद भी अब तक उन्हें नहीं मिला. बिल्डर का नाम निर्मल लाइफस्टाइल कल्याण प्राइवेट लिमिटेड है. 2011 में फ्लैट की बुकिंग हुई. 2014 में हैंडओवर होना था. 22 टावर का पूरा प्रोजेक्ट पिछले 6 साल से रुका है. उन्होंने बताया कि 2018 में रेरा में शिकायत की तो बिल्डर ब्याज देने के लिए राजी हुआ लेकिन वो भी पिछले 14 महीने से नहीं मिल रहा.

अगर आप भी किसी बिल्डर की जालसाजी का शिकार हुए हैं या फिर आप भी सालों से अपने सपनों के घर को पाने का इंतजार कर रहे है या आपके पास किसी तरह का कोई सुझाव है तो आप हमें lootghar@tv9.com पर ईमेल कर सकते हैं. अगर कोई बिल्डर भी अपना पक्ष रखना चाहता है तो वो भी दिए गए मेल पर अपनी बात लिख सकता है.

Related Posts