दुनिया के सबसे महंगे मसाले ‘केसर’ से महकेगा हिमाचल प्रदेश, ट्रायल के बाद लद्दाख में होगी शुरुआत

भारत में केसर की सालाना डिमांड 100 टन है जबकि उत्पादन सिर्फ 6-7 टन होता है.

दुनिया के सबसे महंगे मसाले केसर की खेती भारत में बढ़ने जा रही है. नए केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख से लेकर हिमाचल प्रदेश के भरमौर और उत्तराखंड तक केसर उगाने की तैयारी चल रही है. पालमपुर स्थित विज्ञान और उद्योग अनुसंधान संस्थान की हिमालयन बायो रिसोर्स टेक्नोलजी शाखा इस दिशा में नए प्रयोग कर रही है.

इस प्रयोग के अलावा हिमाचल प्रदेश कृषि विभाग भी लाहौल स्पीति से सिराज वैली तक केसर उगाने के पायलट प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है. फिलहाल केसर की खेती कश्मीर के पंपोर और किश्तवाड़ तक सीमित है. CSIR-IHBT के मुताबिक भारत में केसर की सालाना डिमांड 100 टन की है जबकि उत्पादन सिर्फ 6-7 टन होता है.

केसर की इस मांग को पूरा करने के लिए वह अफगानिस्तान और ईरान से आयात किया जाता है. CSIR-IHBT के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर राकेश कुमार के मुताबिक देश के बाकी क्षेत्रों में केसर की फसल ट्राई की जा सकती है जहां पर जलवायु और मिट्टी समान हो.

CSIR-IHBT के वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर चिन्हित जगहों के किसान केसर की खेती करने को तैयार होते हैं तो वे अच्छा मुनाफा कमाएंगे. पांच साल का औसत लेकर चलें तो 1.25 लाख रुपए की सालाना लागत पर 6.25 लाख रुपए तक का रिटर्न मिलने की उम्मीद है जिसका मतलब होगा 5 लाख रुपए का मुनाफा.