नेशनल म्यूजियम में नॉनवेज पर रोक: क्या सिंधु घाटी सभ्यता में शाकाहारी थे लोग?

म्यूजियम 25 फरवरी तक ‘Historical Gastronomica’ यानी ऐतिहासिक पकवानों का कार्यक्रम भी आयोजित कर रही है. कार्यक्रम में सिंधु घाटी सभ्यता के खान पान का अनुभव दिलाने के लिए विशेष मेन्यू बनाया गया है.

नेहरू से मोदी तक कई प्रधानमंत्री बने ‘गुरुजी’ के प्रशंसक, सामने कभी कुर्सी पर नहीं बैठे अटल

नागपुर के बाद साल 1927 में उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से एमएससी की डिग्री हासिल की. वह राष्ट्रवादी नेता और बीएचयू के संस्थापक मदन मोहन मालवीय से बहुत प्रभावित थे. आध्यात्मिक तौर पर वह स्वामी विवेकानंद के गुरुभाई अखंडानंद के शिष्य बने.

सिर आगरा और धड़ दिल्ली में दफन, पढ़िए- दारा शिकोह की कब्र को तलाशने में क्यों हो रही मुश्किल

शाहजहां के बड़े बेटे दारा शिकोह का उसके भाई औरंगजेब ने बेरहमी से कत्ल कर दिया था. दारा को उदारवादी मुस्लिम बताया जाता है. क्योंकि उसने हिंदू और मुस्लिम परंपराओं में समानता की तलाश करने की कोशिश की थी.

Teddy Day History : अमेरिका का वो राष्‍ट्रपति जिसके एक इनकार से दुनिया में आए क्‍यूट ‘टेडी बियर’

वेंलेंटाइन वीक के हर एक दिन की तरह टेडी डे के पीछे भी एक खास कहानी है. ये कहानी जुड़ी है अमेरिका के राष्‍ट्रपति रहे थियोडोर रूजवेल्‍ट से.

गुरु रविदास जयंतीः जानिए क्यों पिता ने नाराज होकर घर से निकाल दिया था

संत रविदास अपनी कविताओं के लिए प्रसिद्ध हैं जो मुख्यतः दोहों और पदों के रूप में प्रचलित हैं. इन कविताओं के जरिए उन्होंने समाज में प्रचलित आडंबर और कुप्रथाओं पर गहरी चोट की है.

कौन थे भूपेंद्र कुमार दत्ता, लोकसभा में भाषण के दौरान पीएम मोदी ने लिया जिनका नाम

पीएम मोदी ने कहा कि भारत-पाकिस्तान का बटवारा होने के बाद वे पाकिस्तान में ही रह गए थे और वहां की संविधान सभा के सदस्य थे. संविधान बनने का काम शुरुआती दौर में था तभी उन्होंने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों का दर्द बयान किया था.

23 साल बाद तंजावुर के बृहदेश्वर मंदिर का कुंभाभिषेकम, जानें- UNESCO के विश्व धरोहर का इतिहास और रहस्य

इस पवित्र अवसर पर लाखों श्रद्धालु कावेरी नदी के तट पर मंदिरों के नगर तंजावुर पहुंचे. तंजावुर जिला प्रशासन का दावा है कि इस कुंभाभिषेकम में दस लाख से अधिक श्रद्धालु शामिल हुए.

Air India को खरीदने के लिए Tata Group की दूसरी कोशिश, पढ़ें- क्या है इस डील की सबसे बड़ी वजह

आइए, हम जानने की कोशिश करते हैं कि टाटा समूह की ओर से शुरू की गई विमान सेवा कैसे भारत सरकार की कंपनी हो गई. किन वजहों से फिर से टाटा समूह के स्वामित्व में इसका जाना लगभग तय हो गया है.

Budget 2020 : कौन लाया था पहला बजट ? पढ़ें- भारत में कैसे और क्यों आया था इनकम टैक्स

क्या आप जानते हैं कि यह टैक्स अपने देश में कब अस्तित्व में आया और किन बदलावों के साथ यहां तक पहुंचा है. अपने देश में इनकम टैक्स बतौर कानून पहली बार 160 साल पहले आया था.

सिर्फ UP DGP के रिटायरमेंट पर विदाई देने निकलती है ये कार, जानें पूरा इतिहास

उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह के रिटायरमेंट के खास मौके पर पुलिस विभाग ने लखनऊ पुलिस लाइन पर शानदार समारोह का आयोजन किया और परेड के साथ डॉज किंग्सवे विंटेज कार में उन्हें बिठाकर विदाई दी.

पैर छूकर बापू को गोली मारने वाले गोडसे ने खुद लड़ा था अपना केस, जानिए क्यों नहीं किया था वकील

पूरा देश 30 जनवरी को काले दिन के रूप देखता है क्योंकि इसी दिन सत्य और अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. गांधी जी की हत्या के जुर्म में नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को 15 नवंबर 1949 को फांसी दी गई.

महात्मा गांधी के बचपन का वो किस्सा जब उन्होंने पहली बार कहा था ‘हे राम’

30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि मनाई जाती है. इसी दिन नाथूराम होडसे की पिस्टल से निकली गोलियों ने गांधी जी की जान ले ली थी और उनके मुंह से अंतिम शब्द निकले थे 'हे राम.'

‘शेरे पंजाब’ लाला लाजपत राय, जिनकी वजह से भगत सिंह ने पहली बार उठाई बंदूक

एक सफल वकील, प्रतिष्ठित आर्यसमाजी, श्रमिकों का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व करने वाले, पहले स्वदेशी 'पंजाब नेशनल बैंक' की स्थापना करने वाले, हिंदी-उर्दू-पंजाबी का उत्थान करने वाले, ये सारे लाला जी के व्यक्तित्व के कई सारे पहलू हैं.

इस जगह आकर महात्मा गांधी ने घड़ी और काठियावाड़ी सूट पहनने से कर ली थी तौबा

30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि होती है, इस मौके पर हम उनसे जुड़े किस्से बता रहे हैं. जब लंदन से बैरिस्टर की पढ़ाई करके वह लौटे तो सूट बूट में रहते थे. फिर चौथाई शरीर पर धोती तक कैसे आए. चलिए बताते हैं.

द होलोकॉस्‍ट : 4 साल में मारे गए 60 लाख से ज्‍यादा यहूदी, पढ़ें कैसे अंजाम दिया गया इतिहास का सबसे बड़ा नरसंहार

1945 आते-आते यूरोप के अधिकतर यहूदी मारे जा चुके थे. 2,000 साल तक जो संस्‍कृति फली-फूली, वह लगभग खत्‍म हो चुकी थी.

महात्मा गांधी ने बताया क्यों उनके साथी को लोग प्यार से कहते थे ‘प्याज चोर’

30 जनवरी को गांधी की बरसी होती है, इसलिए हमने सोचा कि इस बार आपको उनसे जुड़े कुछ किस्से सुनाए जाएं. पहला किस्सा मोहनलाल पंड्या का है जिन्हें गांधी ने 'प्याजचोर' की सम्मानित पदवी दिलाई थी.

जब सरदार पटेल ने सुभाष चंद्र बोस पर कर दिया था केस, पढ़ें नेताजी के तीन किस्से

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 123वीं जयंती है. पूरा देश उनके योगदान को याद कर रहा है. 23 जनवरी 1897 को कटक में जन्मे नेताजी का कद क्रांतिकारियों में सबसे बड़ा है. आइए जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़े कुछ रोचक किस्से.

वो पल जब अजीत डोभाल के सामने भारतीयों ने नहीं लगाए ‘भारत माता की जय’ के नारे

भारत सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के खाते में भले ही हजारों उपलब्धियां हों, लेकिन कुछ मलाल उन्हें भी हैं. उन्हीं में से एक दुख के बारे में हम आपको बता रहे हैं.

‘तानाजी’ में इतिहास से छेड़छाड़ से नाखुश सैफ, जानिए उनके किरदार उदयभान की असली कहानी

उदयभान राठौर का इतिहास में क्या स्थान है, उन्होंने औरंगजेब के साथ जाना क्यों स्वीकार किया, औरंगजेब ने कोंढाना जैसे महत्वपूर्ण किले की जिम्मेदारी उन्हें क्यों सौंपी, आइए जानते हैं.

जनरल करियप्‍पा ने क्‍यों की थी संविधान को खत्‍म कर मिलिट्री शासन की वकालत?

करियप्पा का मानना था कि अगर लोगों को लगता है कि राष्ट्रपति शासन और मिलिट्री शासन उन्हें सुरक्षा, बेहतर जीवन और प्रशासन दे सकता है तो इसकी मांग करने का उन्हें अधिकार है.

क्या हुआ था 19 जनवरी की उस सर्द काली रात को, याद कर आज भी सिहर उठते हैं कश्मीरी पंडित

19 जनवरी प्रतीक बन चुका है उस त्रासदी का, जो कश्मीर में 1990 में घटित हुई. जिहादी इस्लामिक ताकतों ने कश्मीरी पंडितों पर ऐसा कहर ढाया कि उनके लिए सिर्फ तीन ही विकल्प थे - या तो धर्म बदलो, मरो या पलायन करो.

जब एनटीआर की पत्नी ने माथा पीटते हुए कहा, ‘विधवा मैं हुई और वे पंडित को नहीं लेने दे रहे मेरा नाम’

18 जनवरी को दक्षिण की राजनीति के शिखर पर रहे एनटी रामाराव की पुण्यतिथि होती है, इसी तारीख को साल 1996 में वह दुनिया को अलविदा कह गए थे. इस मौके पर जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें.

कौन था करीम लाला? जिससे इंदिरा गांधी की मुलाकात के दावों ने बढ़ाई सियासी हलचल

आइए, जानते हैं कि जिसके नाम की चर्चा ने महाराष्ट्र में सियासी हलचल बढ़ा दी है वह डॉन करीम लाला कौन था?

कैफी आजमी को जब फिल्म इंडस्ट्री के लोग कहने लगे थे ‘मनहूस,’ पढ़िए कैसे थे गर्दिश के दिन

आज यानी 14 जनवरी को कैफी साहब की 101वीं जयंती है. गूगल ने अपना डूडल उन्हें समर्पित किया है. हम समर्पित कर रहे हैं संघर्ष से भरी जिंदगी के किस्से.

पाकिस्तान के कब्जे में कैसे गया POK, जानें ‘धरती के स्वर्ग’ का पूरा इतिहास

भारत के नए सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा, “POK सहित पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का है. संसद अगर आदेश दे तो सेना पीओके (POK) पर भी हम कंट्रोल करने के लिए तैयार हैं.”

क्वीलिन हादसे से यूक्रेन के यात्री विमान पर अटैक तक, पढ़ें- कब और कहां हो चुका है ऐसा बड़ा हमला

इससे पहले अमेरिका ने भी 1980 के दशक के आखिरी वर्षों में ईरान के एक यात्री विमान को मार गिराया था. आइए, साल 1938 से लेकर अभी तक के यात्री विमान को मार गिराने की 8 बड़ी घटनाओं के बारे में जानते हैं.

Axis Of Evil का आखिरी निशाना है ईरान, जॉर्ज बुश ने किया था बर्बाद करने का एलान

साल 2002 में अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश (बुश जूनियर) ने दोनों सदनों सीनेट और प्रतिनिधि सभा की संयुक्त बैठक (स्टेट ऑफ द यूनियन ) को संबोधित करते हुए ईरान, इराक और उत्तर कोरिया को एक्सिस ऑफ इविल यानी बुराई की धुरी का नाम दिया था.

कोहली ने मैदान में की हरभजन सिंह की मिमिक्री, भज्जी ने दिया ये जवाब, देखें वीडियो

विराट कोहली ने हरभजन सिंह के गेंदबाजी एक्शन की सटीक नकल उतारी जिसे देखकर हरभजन भी अपनी हंसी नहीं रोक पाए.

ट्रंप-रूहानी में नंबर गेमः 52 के जवाब में क्यों दिलाई 290 की याद, IR655 की पूरी कहानी

साल 1988 की तारीख तीन जुलाई को ईरान कभी नहीं भूल सकता. उस दिन ईरान एयर के दुबई जा रहे एयरबस ए300 ( IR655 ) विमान को खाड़ी हवाई क्षेत्र के ऊपर मार गिराया गया था.

बेहमई नरसंहार: 26 लोगों को लाइन में खड़ाकर गोली मारने के मामले में 18 को आएगा फैसला

देश की राजनीति में भूचाल ला देने वाले बेहमई कांड में सोमवार को लोअर कोर्ट का फैसला आने की उम्मीद थी. इस नरसंहार ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था. 14 फरवरी 1981 में एक साथ 20 लोगों को कतार में खड़ा कर गोलियों से भून दिया गया था.