राहुल के भ्रम से मंझधार में कांग्रेस, कामराज प्लान ही लगा सकेगा नैया पार?

राहुल गांधी पदत्याग की इच्छा जता चुके हैं लेकिन अब तक साफ नहीं कि वो अध्यक्ष हैं या नहीं, और अगर पद छोड़ रहे हैं तो कब तक छोड़नेवाले हैं. फैसले में देरी की वजह से लगने लगा है कि राहुल निर्णयक्षमता के अभाव से गुज़र रहे हैं और सारा...

राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने सिर्फ तेजस्वी को ललकारा था, मांद से बाहर आ गए ‘दो शेर!’

6 जुलाई को पटना के एक होटल में राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई. बैठक में तेजस्वी यादव भी आए जिन्हें देखने की आस बिहार के लोग छोड़ चुके थे.

विज्ञान की धज्जियां उड़ाते प्रसिद्ध ‘वैज्ञानिक’ स्वामी नित्यानंद के 5 Videos देखिए, नहीं रुकेगी हंसी!

ये पहली बार नहीं है जब साइंटिस्ट स्वामी नित्यानंद का वीडियो वायरल हुआ हो. इसके पहले भी वे तमाम वैज्ञानिक खोजों की खोज खबर ले चुके हैं.

तीन नई चीज़ें बताती हैं ये नहीं है ‘नए रैपर में पुराना बजट!’

लोगों का कहना है कि 2024 तक साफ पानी देने का वादा, इनकम टैक्स में छूट, ब्याज दर में छूट, पेट्रोल-डीजल महंगा, ये सब तो हर बजट में होता रहता है. इस वाले में नया क्या है?

केकड़े या चूहे, आखिर कौन काट देता है बांध जिससे आ जाती है बाढ़?

महाराष्ट्र के जल संरक्षण मंत्री तानाजी सावंत के मुताबिक तवरे डैम में पहले कोई लीकेज नहीं था लेकिन हाल में बांध के पास बड़ी संख्या में केकड़े इकट्ठा हो गए.

राहुल गांधी का इस्‍तीफा ‘कामराज’ प्‍लान से कमबैक करने की रणनीति का हिस्‍सा तो नहीं?

आइए आपको बताते हैं क्‍या है कामराज प्‍लान और इसकी मदद से कैसे राहुल गांधी दोबारा कांग्रेस की कमान अपने हाथों में ले सकते हैं.

कश्मीर पर अमित शाह की ‘अटल’ पॉलिसी, इन दो रास्तों पर चल कर होगी नई सुबह

पिछले 32 साल में ऐसा पहली बार हुआ जब देश का गृह मंत्री कश्मीर गया हो और किसी अलगाववादी संगठन ने बंद का आह्वान नहीं किया हो. अमित शाह ने शहीद इरशाद खान के घर जाकर एक बड़ा संदेश दिया.

अयोध्या की ऐतिहासिक विरासत उजड़ रही है, जो बच गया है कम से कम उसे तो बचा लो..

अयोध्या को पूरब का यरुशलम कहा गया लेकिन उसकी ऐतिहासिक धरोहरों को संजोने का वक्त और फिक्र किसी के पास नहीं है.

हिंदी सिनेमा के सबसे महंगे और कामयाब विलेन अमरीश पुरी को जिंदगी भर इस बात का रहा मलाल

अमरीश पुरी हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के सबसे महंगे विलेन थे. 90s की कोई भी कमर्शियल फिल्म बिना अमरीश पुरी को कास्ट किए कामयाबी की गारंटी नहीं ले सकती थी.

Video: CM नीतीश कुमार मौन, सुशील मोदी चुप, मासूमों की मौत का ज़िम्मेदार कौन?

सुशील मोदी ने ट्विटर पर तो बच्चों की मौतों को प्राकृितक आपदा कह दिया लेकिन कैमरों के सामने कुछ भी कहने से बचते रहे. वहीं सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कैमरों के सामने खामोश हैं.

संजय दत्त को एंटी ड्रग्स कैंपेन का अंबेसडर बनाने के बाद सलमान को सौंपें ट्रैफिक रूल्स समझाने की जिम्मेदारी!

सरकार का तर्क है कि संजय दत्त को नशे में डूबकर उस पर जीत हासिल करने का एक्सपीरियंस है.

बच्चों की मौत पर ये कैसी राजनीति, क्या दिमागी संतुलन खो चुकी है आरजेडी?

बिहार में जानलेवा बुखार बच्चों को निगल रहा है और आरजेडी अपने फेसबुक पोस्ट में खुद को वोट न देने का रोना रो रही है.

IND vs PAK मैच खत्म होने के बाद दोनों टीमों के फैन्स की फेसबुक चैट!

व्यंग्य: भारत ने 'सोते सरफराज' की टीम को 89 रन के बड़े अंतर से हरा दिया. दोनों टीमों के फैन अपने अपने देश में बैठे एकदूसरे से बातें कर रहे हैं.

लेफ्ट, लिबरल हो या राइटिस्ट, सभी को है सोशल मीडिया से दिक्कत

उत्तर प्रदेश, केरल, असम, पश्चिम बंगाल, इन सब जगहों पर लोग मुख्यमंत्री पर पोस्ट करके अरेस्ट हो चुके हैं.

यूपी में पुलिस या विधायक पीट न दें, खुद को इन आसान टिप्स से बचाएं पत्रकार!

यूपी में पत्रकारों पर हमले जारी हैं. ये कुछ जरूरी उपाय हैं जिनकी मदद से पत्रकार खुद को बचा सकते हैं.

8 राज्‍यों में बेहद कम हैं हिंदू आबादी, फिर क्‍यों नहीं मिलते ‘अल्‍पसंख्‍यक’ वाले फायदे?

अगर कानून की परिभाषा में हिंदू अल्‍पसंख्‍यक है हीं नहीं तो जिन राज्‍यों में हिंदुओं की संख्‍या न के बराबर है, उन्‍हें राज्य सरकारें कैसे अल्‍पसंख्‍यक मान सकती हैं?

कठुआ केस में 6 दोषियों को सज़ा, इनके समर्थन में तिरंगा यात्रा निकालने वालों को कब मिलेगी?

कठुआ केस में 6 लोगों को सज़ा सुनाई गई है, एक को बरी किया गया है. सवाल अब इनके समर्थन में तिरंगा यात्रा निकालने वालों से है.

इस्‍तीफे की अटकलों से निकलकर राहुल गांधी ने कमबैक तो किया पर जरा देर से!

वायनाड में राहुल गांधी ने स्‍पष्‍ट संकेत दे दिया कि वह राजनीति छोड़कर कहीं जाने वाले नहीं हैं. मतलब उनके इस्‍तीफे का चैप्‍टर अब क्‍लोज हो चुका है.   

अलीगढ़ कांड: हमारी प्राथमिकताएं कहती हैं कि हम हैं एक असफल समाज

अलीगढ़ में मासूम बच्ची के साथ हुई क्रूरता पर एक बेटी का पिता सोचता है, कब बंद होंगी ये खबरें?

अलीगढ़ में मासूम के कत्‍ल पर ‘खूनी’ खेल खेलने वालो शर्म करो

सोशल मीडिया पर जो लोग छोटी से बच्ची की मौत पर लंबी चौड़ी बातें कर रहे हैं उनसे मेरा बस यही कहना है कि ‘कड़ी निंदा नहीं इंसाफ चाहिए जज साहब’

अलीगढ़ में बच्ची के साथ दरिंदगी के बाद उठे सवाल, क्यों सोई रही पुलिस?

घटना यूपी के अलीगढ़ की है. बच्ची के साथ दरिंदगी और हत्या की जांच के लिए एसआईटी का गठन भी हो गया है. आरोपी गिरफ्तार भी हो गए हैं. पांच पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई भी हो गई है, लेकिन कई सवाल जिंदा हैं.

10 सीटों की माया मिली, अब अखिलेश को राम-राम कहेंगी मायावती?

महागठबंधन से बसपा को वाकई फायदा हुआ. 2014 में 0 सीटें आई थीं, 2019 में 10 आईं. क्या 10 सीटों की माया लेकर अलग हो जाएंगी मायावती?

शायर राहत इंदौरी ने बिजली की समस्या पर ध्यान दिलाया, लोगों ने इस पर भी मजे लिए!

राहत इंदौरी ने कमलनाथ को टैग करके ट्वीट किया कि यहां बिजली आना-जाना आम हो गया है. अगर राहत इस समस्या को शेरो शायरी के अंदाज में कहते तो बात जम जाती.

कहां से आया ‘जय श्री राम’ का नारा जिस पर बंगाल में छिड़ा है बवाल?

पश्चिम बंगाल 'जय श्री राम' के नारे के साथ लड़ाई का मैदान बना हुआ है. ममता बनर्जी जय श्री राम बोलने वालों को जेल भेजना चाहती हैं और दूसरा पक्ष जय श्री राम के नारे को डर का दूसरा नाम बना देना चाहता है.

राहुल गांधी को इन दो भाइयों से सीखना चाहिए, प्रचंड हार के बाद भी कैसे न दें इस्तीफा!

राहुल गांधी इस्तीफे पर अड़े हैं और उनकी पार्टी इस्तीफा न लेने पर अड़ी है. इस अड़ा-अड़ी के खेल में राहुल गांधी पाजिटिव बातें नहीं देख पा रहे.

ममता बनर्जी ने जिन्हें खिलाया था खाना, कहां गए वो लोग?

जनवरी में एक तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें ममता बनर्जी बाकी विपक्ष के नेताओं को खाना परोसती दिखी थीं. वो तस्वीर फिर वायरल हो रही है.

मोदी के ‘चुपचाप कमलछाप’ ने कैसे गिराया बंगाल में टीएमसी का ग्राफ?

‘चुपचाप-कमलछाप’ वो नारा था जिसने बंगाल में टीएमसी की ज़मीन खिसका दी. पीएम मोदी के दिए इस नारे ने बांकुरा की सीट तो ममता से छीनी ही साथ ही बीजेपी की झोली में डेढ़ दर्जन सीटें डालीं.

नई राजनीति के तीन संदेश देती स्मृति ईरानी की एक तस्वीर

अमेठी में अपनी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा देकर स्मृति ईरानी ने नए पैमाने सेट किए.

EVM पर सवाल उठाने वालों की बात पर इसलिए नहीं करता कोई विश्वास!

एग्जिट पोल्स का रिजल्ट आते ही ईवीएम पर बहस तेज हो गई. हर बार चुनावी रिजल्ट के एक दो दिन पहले और बाद में सवाल उठते हैं.