मारे गए नक्सलियों के पास से मिली अमेरिकन G-3 राइफल, पाकिस्तानी आर्मी करती है उपयोग

गुरुवार को छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से DRG जवानों का एक दल एन्टी नक्सल अभियान पर निकला था. अंतागढ़ के ताडोकी इलाके में जवानों का सामना नक्सलियों से हुआ. इस दौरान दोनों ओर से चली लंबी फायरिंग के बाद जवानों ने 2 वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया.

कांकेर: छत्तीसगढ में पुलिस के जवानों को एक बड़ी सफलता मिली है. कांकेर जिले के अंतागढ़ इलाके में कल देर रात हुई मुठभेड़ में जवानों ने 2 वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया है. मारे गए इन नक्सलियों के पास से मिली एक बंदूक की वजह से एक बार फिर नक्सलियों के दुश्मन देशों से करीबी का खुलासा हुआ है. नक्सलियों के पास से अमेरिकन मेड G-3 राइफल मिली है. जिसे पाकिस्तानी आर्मी उपयोग करती है.

गुरुवार को छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से DRG जवानों का एक दल एन्टी नक्सल अभियान पर निकला हुआ था. अंतागढ़ के ताडोकी इलाके में जवानों का सामना नक्सलियों से हुआ. इस दौरान दोनों ओर से चली लंबी फायरिंग के बाद जवानों ने 2 वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया.

जवानों ने इलाके की सर्चिंग के दौरान 4 हथियार भी बरामद किए. जवानों ने एसएलआर राइफल, 3 नॉट 3 राइफल, के साथ एक G-3 राइफल भी बरामद की है. पुलिस महानिदेशक डी एम अवस्थी के मुताबिक अमेरिका द्वारा बनाई गई इस G-3 राइफल को पाकिस्तानी आर्मी उपयोग करती है. ये एक पावरफुल हथियार है. जिसे बांग्लादेश वॉर के दौरान उपयोग किया गया था. इससे पहले सुकमा जिले से भी एक G-3 राइफल बरामद की जा चुकी है.

शुक्रवार को झारखंड में पुलिस जवानों पर हुआ नक्सली हमला

झारखंड के सरायकेला में शुक्रवार को पुलिस जवानों पर नक्सली हमला हुआ. इस हमले में 5 पुलिस जवानों को मौत के घाट उतार दिया. हमले में 2 एसआई और 3 कॉन्सटेबल शहीद हो गए. जानकारी के मुताबिक नक्सली, पुलिस के हथियार लेकर फरार हो गए.

यह घटना तिरोलडीह थाना क्षेत्र की है. घटना के बाद पुलिसकर्मियों के हथियार भी गायब हैं और एक पुलिसकर्मी लापता है. जानकारी के मुताबिक गश्ती दल की पुलिस टीम पर घात लगाकर हमला किया गया है. इस हमले में, मृतकों में ASI गोवर्द्धन पासवान, ASI मनोधन हांसदा, आरक्षी युधिष्ठिर मालूआ, डिब्रु पूर्ति और धनेश्वर महतो शामिल हैं. जबकि ड्राइवर सुकलाल कुदद्दा जो थाने के ड्राइवर थे वह अभी तक लापता हैं.