रमन सिंह के दामाद पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में दर्ज की याचिका

पुलिस के मुताबिक छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद पुनीत गुप्ता के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. साथ ही पुलिस ने उनपर जांच में सहयोग न करने का आरोप भी लगाया है.

रायपुर: डीकेएस अस्पताल फर्जीवाड़ा मामले के मुख्य आरोपी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत की मुश्कीलें बढ़ सकती हैं. छत्तीसगढ़ पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में पुनीत गुप्ता की जमानत खारिज करने की याचिका दाखिल की है. जिसपर सुप्रीम कोर्ट 10 मई को सुनवाई करेगा.

पुलिस के मुताबिक छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद पुनीत गुप्ता के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. साथ ही पुलिस ने उनपर जांच में सहयोग न करने का आरोप भी लगाया है. माना जा रहा है कि अब डॉ. पुनीत गुप्ता पर गिरफ्तारी की तलवार भी लटक रही है.

दरअसल पुनीत गुप्ता पर 50 करोड़ रुपए के फर्जीवाड़ा का आरोप है. रायपुर के डीकेएस अस्पताल में अधीक्षक रहते फर्जीवाड़ा करने का आरोप पुनीत गुप्ता पर लगा है. मालूम हो कि पुनीत गुप्ता पर रायपुर जिला अस्पताल के अधीक्षक रहने के दौरान आर्थिक अनियमितता के आरोप लगाए गए थे.

इस संबंध में जिला अस्पताल के वर्तमान अधीक्षक ने 15 मार्च को पुनीत गुप्ता के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई थी. इसी शिकायत पर पुलिस ने उन्हें अपना बयान दर्ज करवाने का नोटिस भेजा था. लेकिन पुनीत गुप्ता पुलिस के सामने बयान दर्ज कराने नही पहुंचे. जिसके बाद उनके अस्पताल और घर पर पुलिस ने छापे मारे थे.

ये भी पढ़ें: ‘जब नाश मनुज पर छाता है…’, PM मोदी को दुर्योधन बता प्रियंका ने पढ़ी कविता