17 साल की लड़की से गैंगरेप के बाद बाल काटे, दिल्‍ली पुलिस तय करती रही थाना कौन सा लगेगा

जब रिश्‍तेदार केस दर्ज कराने पहुंचे तो दो थानों की पुलिस सीमा-विवाद में उलझ गई.

नई दिल्‍ली: सागरपुर इलाके में 17 वर्षीय एक युवती से अलग-अलग जगहों पर गैंगरेप की खौफनाक वारदात हुई. जब लड़की ने विरोध किया तो उसके बाल काट दिए गए. ऊपर से दिल्‍ली पुलिस की लापरवाही का आलम देखिए कि जब रिश्‍तेदार केस दर्ज कराने पहुंचे तो वहां इसपर बहस हुई कि थाना कौन सा लगेगा.

शिकायत के अनुसार, पीड़‍िता सागरपुर में रहती है. उसके भाई के दो दोस्‍त घर पर आते थे. 30 जून को लड़की का भाई हरिद्वार गया था. रात में जब माता-पिता सो रहे थे तो भाई के दोस्‍त घर आए और लड़की से कहा कि उसे उसका भाई बुला रहा है. लड़की को बाइक पर बिठाकर वे उसे एक फ्लैट में ले गए. वहां 3 और लोग भी थे.

भाई को वहां न पाकर लड़की घर जाने लगी तो उसे बंधक बनाकर मारपीट की गई. पांचों ने नाबालिग युवती से गैंगरेप किया. अगले दिन लड़की को दूसरे फ्लैट ले जाया और वहां गैंगरेप हुआ, फिर तीसरे में. किसी तरह लड़की आरोपियों के चंगुल से बचकर भागी और किसी तरह दीनदयाल उपाध्‍याय अस्‍पताल पहुंची.

रिपोर्ट्स के अनुसार, वारदात की रात 8.30 बजे दीनदयाल उपाध्‍याय अस्‍पताल में पीड़‍िता का मेडिकल हुआ. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई तो सीमा विवाद हो गया. सागरपुर और पश्चिम विहार वेस्‍ट थाने की पुलिस इस बात पर बहस करती रही कि किस कहां दर्ज होगा. सीनियर अधिकारियों के हस्‍तक्षेप करने पर यह विवाद सुलझा. हालांकि पुलिस ने ऐसी किसी बात से इनकार किया है. पुलिस ने इस मामले में तीन आरोप‍ियों को पकड़ा है, दो अभी फरार हैं.

ये भी पढ़ें

यूपी: पत्नी ने शारीरिक संबंध बनाने से किया इनकार, पति ने की हत्या, फिर काट डाला अपना गुप्तांग

जन्म देने वाले ही बन गए हत्यारे, 16 साल की बेटी को मां-बाप ने मारा फिर गंगा में दिया फेंक