खुद को आर्मी का मेजर बताकर पुलिस वालों पर झाड़ने लगा रौब, जांच हुई तो ID कार्ड निकला फर्जी

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने पहले एनसीसी जॉइन की थी और वो देहरादून की आईएमए अकेडमी भी गया था. आर्मी अफसर नहीं बन पाया तो शौक पूरा करने के लिए मेजर रैंक का फर्जी पहचान पत्र बनवा लिया.
Delhi fake Army Major, खुद को आर्मी का मेजर बताकर पुलिस वालों पर झाड़ने लगा रौब, जांच हुई तो ID कार्ड निकला फर्जी

दिल्ली (Delhi Police) ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया जो खुद को आर्मी का मेजर (Army Major) बताकर पुलिस वालों पर ही रौब झाड़ने लगा. मामला दिल्ली के रोहिणी के प्रेम नगर का है.

यहां झगड़े के एक मामले में गिरफ्तार शख्स से जब ज़मानत लेने के लिए पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा गया तो उसने पुलिस पर रौब झाड़ते हुए कहा कि वो आर्मी में मेजर है उसे पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकती.

यही नहीं उसने सेना का एक पहचान पत्र भी दिखा दिया. शक होने पर पुलिस ने जांच की तो पता चला कि पहचान पत्र फ़र्ज़ी है. उसके बाद आरोपी के खिलाफ जालसाज़ी का दूसरा केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

रोहिणी डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी प्रमोद मिश्रा के मुताबिक प्रेम नगर इलाके में 23 जुलाई को सूरज तिवारी नाम के शख्स को, एक महिला के साथ झगड़े की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया था. क्योंकि अपराध ज़मानती था इसलिए सूरज से ज़मानत लेने के लिए पहचान पत्र देने के लिए कहा गया.

इस पर सूरज ने आर्मी का एक पहचान पत्र दिखाते हुए कहा कि वो आर्मी में मेजर है. उसे कोई गिरफ्तार नहीं कर सकता. वो लगातार पुलिसवालों पर रौब झाड़ रहा था. शक होने पर पुलिस ने जब उसके पहचान पत्र की जांच कराई तो पता चला कि मेजर का पहचान पत्र फ़र्ज़ी है. इसके बाद पुलिस ने उसे जालसाज़ी का दूसरा केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया जो गैरजमानती है.

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने पहले एनसीसी जॉइन की थी और वो देहरादून की आईएमए अकेडमी भी गया था. वहां उसे लगा कि वो भी एक दिन आर्मी अफसर बनेगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका और फिर उसने शौक पूरा करने के लिए आर्मी में मेजर रैंक का फ़र्ज़ी पहचान पत्र बनवा लिया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts