Video:’3 घंटे तक बारी-बारी से रेप किया, विरोध पर पीटते रहे’, अलवर गैंगरेप पीड़‍िता की आपबीती

राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी में पति को बंधक बनाकर पत्नी के साथ किए गए गैंगरेप मामले में पुलिस ने अब तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

जयपुर: अलवर में 26 अप्रैल को हुई खौफनाक वारदात से जुड़ी और जानकारियां सामने आई हैं. महिला ने कभी यह सोचा भी नहीं होगा कि पति के साथ शॉपिंग पर जाते समय उसके साथ ऐसा कुछ हो जाएगा. पांच युवकों ने थानागाजी के पास, उनकी बाइक रुकवाई और फिर जो वीभत्‍स घटना हुई, वो शायद ही पति-पत्‍नी के जेहन से कभी हट पाए. पीड़‍िता के मुताबिक, उसने बलात्‍कार का जितना विरोध किया, उन पांचों ने उतने ही जोर से उसे और उसके पति को पीटा.

करीब तीन घंटों तक महिला के साथ दुराचार होता रहा. आरोपियों ने पूरी घटना के वीडियो भी बना लिए थे, ताकि कैश के लिए ब्‍लैकमेल किया जा सके. एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया गया था, जो वायरल हो चुका है.

पीड़‍ित शख्‍स के भाई ने एक अंग्रेजी अखबार से पूरी घटना बयान की है. इसके मुताबिक, “मेरा भाई जयपुर में काम करता है और उनकी पत्‍नी थानागाजी के नजदीक अपने परिवार के साथ रहती हैं. 26 अप्रैल को वे शॉपिंग के लिए अलवर गए थे. वे लोग अपनी बाइक पर थे जब सुनसान सड़क पर दो बाइकों पर सवार पांच लोगों ने पीछा करना शुरू किया. उन्‍होंने जबरन मेरे भाई की गाड़ी रुकवाई. फिर उन्‍होंने उसकी बाइक खाई में फेंक दी और उन्‍हें सड़क किनारे लगे रेत के ढेर की ओर ले गए.”

पति की जान बचाने को हार गई महिला

इसके बाद दोनों के कपड़े उतरवाकर वीडियो बनाया गया. पीड़‍िता के देवर के मुताबिक, “उन पांचों ने मेरे भाई को डंडों से मारा, पत्‍नी को भी पीटा. उसने (महिला) विरोध करने की कोशिश की, मगर वो जितना विरोध करती, वे लोग उतना ही उसे पीटते. अपने पति की जान बचाने के लिए उसने समर्पण कर दिया. उन्‍होंने बारी-बारी से बलात्‍कार किया और करीब तीन घंटे तक यह सब चलता रहा. उन लोगों ने 2 हजार रुपये भी छीन लिए.”

रिपोर्ट के अनुसार, जब आरोपी वहां से फरार हो गए तो पीड़‍ित ने गाड़ी को खाई से निकालने की कोशिश की. महिला को उस हाल में भी धक्‍का लगाना पड़ा क्‍योंकि बाइक खाई से निकल नहीं पा रही थी. घर पहुंचकर उन्‍होंने परिवार को कुछ नहीं बताया. तीन दिन बाद जब उन्‍होंने पूरी घटना बयान की तो परिवार सन्‍न रह गया. बाद में पांचों आरोपियों में से एक ने पीड़‍ित जोड़े को फोन किया और वीडियोज डिलीट करने के 9,000 रुपये मांगे.

अब तक तीन आरोपी गिरफ्तार

राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी में पति को बंधक बनाकर पत्नी के साथ किए गए गैंगरेप मामले में पुलिस ने अब तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इस दुष्कर्म का मुख्य आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है. पुलिस की एक दर्जन से अधिक टीमें दो अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी हुई हैं.

पुलिस ने जिन तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनका नाम मुकेश, इंद्रराज और अशोक है. मुकेश पर आपत्तिजनक वीडियो को वायरल करने का आरोप है. वहीं, इंद्रराज प्रागपुरा का रहने वाला है और वो ट्रक ड्राइवर है. पुलिस पीड़िता का मेडिकल करवा चुकी है और अब पीड़िता का बयान दर्ज कराने जा रही है.

अलवर गैंग रेप मामले में राजस्थान सरकार को NHRC ने नोटिस भेजते हुए सवाल उठाया है कि जब 26 तारीख को रेप हुआ था, तो इतनी लेट कार्रवाई क्यों हुई?

नोटिस में पूछा गया कि क्या वजह रही कि इस पर त्वरित कार्रवाई नहीं की गई. प्रशासन ने इस मामले में संज्ञान क्यों नहीं लिया और तीन का गैप क्यों रखा गया. NHRC ने ये भी कहा कि इस में दोनों पक्षों पर गौर किया जाएगा. अगर पीड़िता सामने नहीं आना चाहेगी तो उस पर किसी तरह का दबाव नहीं डाला जाएगा.

SO, ASI और तीन सिपाही सस्पेंड

डीजीपी ने मंगलवार को अलवर के एसपी राजीव पचार को यहां से हटाकर कार्यमुक्त कर दिया. वहीं, मामले में लापरवाही बरतने को लेकर थानागाजी थाने के प्रभारी सरदार सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. जबकि एएसआई रूपनारायण, सिपाही रामरतन, महेश कुमार और राजेंद्र को लाइन हाजिर किया गया है.

पूरे राज्य में विरोध-प्रदर्शन

पूरे राजस्थान में इस घटना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया जा रहा है. राजस्थान के अलावा देश के हिस्सों में भी अलवर गैंगरेप की कड़ी निंदा हो रही है. इस बीच भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर भी बुधवार को थानागाजी पहुंचे हैं.

CM अशोक गहलोत ने कही ये बात

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने कहा है कि पुलिस द्वारा किसी भी स्तर पर लापरवाही या अनियमितता पाए जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी. महिला सुरक्षा के प्रति सरकार पूर्णतया प्रतिबद्ध है.

पूर्व CM वसुंधरा राजे ने घेरा

राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस सामूहिक दुष्कर्म घटना को प्रदेश के लिए बेहद शर्मनाक बताया है. उन्होंने कहा है कि ऐसे जघन्य अपराध कांग्रेस सरकार के महिला और बेटियों को सुरक्षित माहौल देने के दावों की पोल खोल रहे हैं.

ये भी पढ़ें

अलवर में एक और गैंगरेप का खुलासा, पुलिस पर मामला दबाने का आरोप

‘गुलाम हो, मेरे साथ सेक्‍स करना तुम्‍हारी ड्यूटी’, दो दशक तक महिलाओं का यौन शोषण करता रहा ‘गुरु’