आंध्र प्रदेश: श्रीकाकुलम में नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप, दिशा कानून के बाद भी नहीं डर रहे दरिंदे

आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में पहली बार दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. नाबालिग छात्रा के साथ चार लोगों ने मिलकर गैंगरेप किया उसके बाद हत्या करके रेल की पटरियों पर फेंक दिया.

आंध्र प्रदेश में दिशा कानून पारित हुए कुछ ही दिन हुए हैं, जिसमें दुष्कर्म और सामूहिक दुष्कर्म के मामलों का निपटारा 21 दिन में करने और दोषियों के लिए सजा-ए-मौत को अनिवार्य बताया गया है. इसके बावजूद भी लोगों में अभी भी दिशा कानून का डर नहीं बना है.

आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में पहली बार दिल दहला देने वाली घटना पहली बार सामने आई है. इंटरमीडिएट की एक छात्रा के साथ चार लोगों ने मिलकर गैंगरेप किया उसके बाद हत्या करके रेल की पटरियों पर फेंक दिया.

इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें देखा जा सकता है कि किस तरह शव के ऊपर से ट्रेन गुजर रही है, ये दृश्य देखकर किसी का भी दिल दहल जाएगा.

श्रीकाकुलम जिले के पालसा रेलवे स्टेशन के पास रविवार को ये घटना हुई. पुलिस ने सोमवार को छात्रा की पहचान 17 साल की नाबालिग लड़की के रूप में की जो श्रीकाकुलम जिले के वज्रप्पूकोत्तूर मंडल के धर्मापुरम गांव की रहने वाली थी.

काशिबुग्गा पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लिया है, जो पालसा मंडल के सुन्नाडाकू गांव का रहने वाला है. बताया जा रहा कुल चार लोग मिलकर इस घटना को अंजाम दिया है.

परिजनों का कहना है, ‘घर के बाहर स्थित बाथरूम में गई थी उसके बाद नहीं दिखी. हमने काफी ढूंढा मगर कहीं से कुछ पता नहीं चला. फिर फोन के जरिए सुराग मिला जिसमें एक लड़के का मैसेज मिला. उसको दूसरे फोन से फोन किया लेकिन वह घुमाफिरा कर बात कर रहा था, हमने पुलिस को इसकी जानकारी दी.’

इस घटना के बाद से लोगों में काफी नाराजगी दिख रही है. छात्रा के परिजन के साथ गांववाले भी सड़क पर उतर आए और अस्पताल के सामने आंदोलन करने लगे. सड़कों पर नारेबाजी करने लगे. इलाके में तनाव बना हुआ है.

इसी बीच पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ की पूछताछ कर रही थी. तभी लोगों ने वहां पहुंच कर उसकी पिटाई शुरू कर दी. पुलिस किसी तरह आरोपी को बचा कर वहां से पुलिस स्टेशन ले गई. लोग चारों आरोपियों को उनके हवाले कर देने की मांग कर रहे थे. रेलवे पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें-

फांसी टालने के लिए कानूनी दांव-पेंच चल रहे निर्भया के दरिंदे, मौत के डर से खुराक भी हुई कम

हरियाणा : दुष्कर्म के आरोपी को फांसी की सजा, रेप के बाद मासूम की कर दी थी हत्या