नोएडा में दो टावरों के बीच 1 फुट के गैप में फंसा मिला लड़की का शव, दीवार में छेद कर निकाला

लाश को निकालने के लिए NDRF की टीम ने रस्सी और कटर्स का इस्तेमाल किया.

नोएडा में दो ऊंची इमारतों के बीच एक युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गई है. पुलिस ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी. आम्रपाली सिलिकॉन सिटी सोसाइटी के पास निवासियों ने अजीब सी बदबू की शिकायत की, जिसके बाद खोजबीन करने पर वहां शव पाया गया. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “शव दो इमारतों के बीच पड़ा था. हमने शव को बाहर निकाल लिया है.”

नोएडा के सेक्टर-76 में आम्रपाली सिलिकॉन सिटी सोसाइटी में दो ऊंची इमारतों के बीच 1 फुट के गैप में 18 साल की युवती का शव फंसा हुआ था. सोसाइटी वालों को बदबू आई तो उन्होंने पुलिस में शिकायत की, पुलिस शव को वहां से निकालने में असफल रही. जिसके बाद NDRF की टीम को बुलाया गया और ढाई घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शव को वहां से निकाला गया. एयर इंडिया की रिकवरी किट की मदद से NDRF की टीम ने शव को उतारा. शव उतारने के लिए NDRF की टीम को एक फ्लैट की दीवार को काटना भी पड़ा.

अभी तक जांच के अनुसार, युवती 18वीं मंजिल से गिरी और 12वीं मंजिल पर गैप में पड़े स्लैब पर अटक गई. हालांकि पुलिस महिला की हत्या कर फेंके जाने के एंगल पर भी जांच कर रही है. सेक्टर 49 को पुलिस अभी मामले की जांच में लगी है.

युवती 18वीं मंजिल के एक फ्लैट में काम करती थी और आशंका है कि युवती की हत्या की गई, उसके बाद उसका शव 18वीं मंजिल से केबल के जरिए दोनों इमारतों के बीच डाला गया, पर केबल टूट जाने के कारण शव 12वीं मंजिल के स्लैब पर गिरकर अटक गया. युवती के शव के साथ केबल बंधा हुआ मिला.

नोएडा-3 के सर्किल ऑफिसर विमल कुमार सिंह ने कहा कि, “पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह का पता चल जाएगा. केबल युवती के गले से नहीं बल्कि शरीर से बंधा हुआ मिला है. शव का बुधवार को पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. मृतका की पहचान के बाद उसकी सूचना उसके परिवार वालों को दे दी गई है.”

नोएडा, नोएडा में दो टावरों के बीच 1 फुट के गैप में फंसा मिला लड़की का शव, दीवार में छेद कर निकाला
शव निकालने आई NDRF की टीम.

युवती की पहचान 

युवती की पहचान 18 साल की मेड सोनामुनी के रूप में हुई है. डी टावर के 1802 फ्लैट में रहने वाले जयप्रकाश ने युवती की पहचान अपने यहां काम करने वाली मेड के रूप में की. उन्होंने बताया कि वो बिहार के कटिहार स्थित उनके गांव के नजदीक ही मधेपुरा की रहने वाली है. उनके यहां वह एक साल से काम कर रही थी और 25 मई को वह उनके साथ गांव गई थी. वह 18 जून को वापस लौटी और 28 जून से लापता थी. जयप्रकाश ने बताया उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को तो नहीं, लेकिन उसके परिवार को दे दी थी.

ये भी पढ़ें: टीचर का टॉर्चर: बच्चा मांगता रहा जान की भीख, फिर भी उसके गले पर रखी धारदार कुल्हाड़ी

ये भी पढ़ें: मोबाइल रिपेयरिंग वाले ने बनाया लड़कियों का अश्लील वीडियो, स्टाफ ने किया वायरल