बिजनेसमैन का सिम डिएक्टिवेट कर 30 मिनट में उड़ाए 45 लाख रुपए

शातिराना तरीके से 45 लाख रुपए एक इंजीनियरिंग कंपनी के बैक खातों से निकाले गए, जिसके लिए पहले तो बदमाशों ने मालिक का फोन निष्क्रिय किया फिर इंटरनेट बैंकिंग क्रेडेंशियल्स को हैक कर लिया.
How Rs45 lakh wiped off in 30 minutes, बिजनेसमैन का सिम डिएक्टिवेट कर 30 मिनट में उड़ाए 45 लाख रुपए

शातिर बदमाशों के हौसले इस कदर बुलंद है कि अपने मालिक का मोबाइल नंबर  डिएक्टिवेट  कर बड़े ही शातिराना तरीके से 45 लाख रुपए उड़ा लिए गए.

दरअसल ये 45 लाख रुपए एक इंजीनियरिंग कंपनी के बैक खातो से निकाले गए, जिसके लिए पहले तो बदमाशों ने मालिक का फोन  डिएक्टिवेट   किया फिर इंटरनेट बैंकिंग क्रेडेंशियल्स को हैक कर लिया.

अब आपको बताते है इस पूरे फ्रॉड को कैसे अंजाम दिया गया. क्रिएटिव इंजीनियर्स कंपनी के मालिक जगदीश को शनिवार को पता चला कि उसका एयरटेल सिम काम नहीं कर रहा है. फिर सोमवार रात को कैनरा बैंक के करंट एकाउंट से 45.7 लाख रुपए की रकम पांच किश्तों में केवल 30 मिनट में ट्रांसफर कर दी गई.  हालांकि 24 घंटे बाद विजयनगर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

बता दें पीड़ित जगदीश  बैंगलोर के विजयनगर में अपनी पत्नी मंगला के साथ रहते हैं जो क्रिएटिव इंजीनियर्स कंपनी चलाते है, जिसका काम हेगगानहल्ली में मिनरल प्रोसेसिंग और मिट्टी पंप मशीनरी का निर्माण करता है.

हालांकि पुलिस को संदेह है कि बदमाशों ने कंपनी के इंटरनेट बैंकिंग क्रेडेंशियल्स को हैक करने के अलावा,

रिप्लेसमेंट   रीक्विस्ट और  रिप्लेसमेंट  सिम्युलेटर लेने के लिए पहले अपने ईमेल खाते को हैक किया फिर जगदीश के सिम कार्ड को डिएक्टिवेट कर दिया है.  साथ ही एयरटेल ने अपनी तरफ से सफाई देते हुए कहा कि हमारी ओर से कोई चूक नहीं हुई है. फिलहाल पुलिस ने IPC की धारा 420 (धोखाधड़ी) और आईटी एक्ट 66 D (कंप्यूटर संसाधन का उपयोग करके व्यक्ति को धोखा देने की सजा) के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें-     दिल्ली पुलिस ने किया ISIS टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़, गिरफ्तार किए तीन आतंकी

                         मध्य प्रदेश में टैक्स फ्री हुई फिल्म ‘छपाक’, सीएम कमलनाथ ने कहा- पीड़ा, संघर्ष की कहानी

 

Related Posts